लाइव टीवी

अमरोहा: कश्मीरी आतंकियों के लिए महज 10 हजार में रॉकेट लॉन्चर तैयार करता था आरोपी !

News18India
Updated: January 3, 2019, 3:01 PM IST

एनआईए के सूत्रों के मुताबिक यूपी के अमरोहा से गिरफ़्तार सईद कश्मीर के आतंकियों के लिए देसी रॉकेट लॉन्चर बनाता था. आईएसआईएस के हरकत उल हरब ए इस्लाम संगठन का संदिग्ध देसी लॉन्चर महज 10 से 12 हज़ार में तैयार करता था और फिर उसे मुफ़्ती सोहेल को 20 से 25 हज़ार में बेच देता था.

  • News18India
  • Last Updated: January 3, 2019, 3:01 PM IST
  • Share this:
एनआईए के सूत्रों के मुताबिक यूपी के अमरोहा से गिरफ़्तार सईद कश्मीर के आतंकियों के लिए देसी रॉकेट लॉन्चर बनाता था. आईएसआईएस के हरकत उल हरब ए इस्लाम संगठन का संदिग्ध देसी लॉन्चर महज 10 से 12 हज़ार में तैयार करता था और फिर उसे मुफ़्ती सोहेल को 20 से 25 हज़ार में बेच देता था.

अब तक की जांच में पता चला है कि हथियारों को ऑटो ड्राइवर इरशाद दिल्ली के ज़ाफ़राबाद पहुंचाता था और उसके बाद इन हथियारों को कश्मीर के आतंकियों को एक से डेढ़ लाख में बेचते थे. एनआईए ने अमरोहा और दिल्ली में छापेमारी कर ISIS के नए मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया था. इस दौरान 10 लोगों को गिरफ़्तार किया गया था.

बता दें मंगलवार से एनआईए और एटीएस की टीम चार संदिग्धों की तलाश में छापेमारी की थी. बताया जा रहा है कि ये सभी गिरफ्तार किए गए चारों संदिग्ध आतंकियों के संपर्क में थे. फिलहाल अमरोहा में एटीएस ने डेरा डाल रखा गया है. इस दौरान सईद को लेकर एनआईए की टीम उसके घर पहुंची. टीम ने उसके घर से कुछ सामान बरामद किए हैं. टीम ने कुछ स्थानों की रेकी भी की.

अमरोहा से गिरफ्तार आईएसआईएस के नए मॉड्यूल हरकत-उल-हर्ब-ए-इस्लाम का सरगना मुफ्ती हुसैन समेत चार संदिग्ध आतंकियों को एनआईए ने रिमांड पर ले रखा है. तब से संदिग्ध आतंकियों से एनआईए और एटीएस पूछताछ कर रही है.

पूछताछ में अमरोहा से जुड़े कुछ सुराग मिले हैं. फिलहाल अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. कहा जा रहा है कि इन पांचों की उम्र 20-22 साल के बीच है. इनके पास से ISIS के पैम्‍पलेट मिले हैं. ये संगठन के स्लीपर सेल के तौर पर काम कर रहे थे. इस संगठन के कई लोग रडार पर हैं.

शराब से भी 'गो सेवा सेस' वसूलेगी योगी सरकार, जानिए क्या है इसका मॉडल?

NIA के आईजी आलोक मित्तल ने बुधवार को इस बात की जानकारी देते हुए कहा था कि इस गैंग का मकसद था, आने वाले दिनों में कई बड़े जगहों पर धमाके करके दहशत फैलाना. इसका मास्टरमाइंड उत्तर प्रदेश के अमरोहा का एक मौलवी मुफ्ती सोहेल था, जो दिल्ली का रहने वाला है. वह मौलवी अमरोहा में रहने वाले लोगों को इस गैंग में शामिल करता था. वह लोग विदेश में बैठे किसी शख्स के सभी संपर्क में थे.गौरतलब है कि एनआईए ने दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल और यूपी एटीएस के समन्वय से दिल्ली के जाफराबाद और सीलमपुर में छह स्थानों और उत्तर प्रदेश में अमरोहा में छह, लखनऊ में दो, हापुड़ में दो और मेरठ में दो स्थानों पर छापे की कार्रवाई के बाद इन लोगों को गिरफ्तार किया था.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेरठ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 3, 2019, 2:57 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर