लाइव टीवी

UP में बलात्कार की बढ़ती घटनाओं को लेकर मेरठ में फूटा महिलाओं का गुस्सा, तख्ती-बैनर के साथ सड़क पर उतरीं

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 7, 2019, 7:22 PM IST
UP में बलात्कार की बढ़ती घटनाओं को लेकर मेरठ में फूटा महिलाओं का गुस्सा, तख्ती-बैनर के साथ सड़क पर उतरीं
उन्नाव की आंच मेरठ में, जब सड़क पर उतरा महिलाओं का सैलाब

महिलाएं एक सुर में 'बलात्कारियों को फांसी दो' ('Hang the rapists') का नारा बुलंद कर रही थीं, सैकड़ों की संख्या में महिलाओं ने कई किलोमीटर पैदल मार्च (foot march) किया और हैदराबाद पुलिस (Hyderabad Police) को सैल्यूट किया. शुरूआत में कुछ महिलाएं सड़क पर उतरीं उसके बाद स्वत: स्फूर्त तरीके से सैकड़ों महिलाएं इस कारवां में जुड़ती चली गईं.....

  • Share this:
मेरठ. उन्नाव गैंगरेप (Unnao Gangrape) पीड़िता की मौत के बाद पूरे प्रदेश में तनाव व्याप्त है जिसकी आंच देश और वैश्विक स्तर (Country and global level) पर भी महसूस की जा रही है. मेरठ (Meerut) में आज सैकड़ों की संख्या में महिलाएं हाथों में तख्ती बैनर लेकर सड़क पर नज़र आईं. ये महिलाएं एक सुर में 'बलात्कारियों को फांसी दो' ('Hang the rapists') का नारा बुलंद कर रही थीं. कई किलोमीटर तक महिलाओं ने नारेबाज़ी करते हुए पैदल मार्च किया.

हैदराबाद पुलिस को किया सैल्यूट 
महिलाएं कलेक्ट्रेट पहुंची और डीएम को ज्ञापन देकर सुरक्षा की गुहार लगाई. हैदराबाद पुलिस को ये महिलाएं शाबाशी देते हुए भी नज़र आईं. इन महिलाओं ने हैदराबाद पुलिस (Hyderabad Police) को सैल्यूट किया. उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता (Unnao Gang rape victim) को जिंदा जला (Burn alive) देने की घटना को लेकर ये महिलाएं ख़ासा व्यथित दिखीं. इस आंदोलन के ज़रिए उन्नाव रेप कांड के आरोपियों को फांसी देने की मांग की गई. ये महिलाएं आज जब तख्ती बैनर लेकर निकलीं तो सभी अचरज भरी निगाहों से इस काफिले को देख रहे थे.

Meerut, Unnao Gangrape, death of the victim,
मेरठ में बैनर व तख्ती के लेकर सड़क पर उतरीं महिलाएं


इस काफिले में पहले चंद ही महिलाएं शामिल हुईं लेकिन जैसे-जैसे ये कारवां बढ़ता गया महिलाओं की तादाद भी बढ़ती गई. देखते ही देखते चंद महिलाओं के साथ सड़क पर शुरु हुआ ये आंदोलन काफिला बन गया. सैकड़ों की संख्या में महिलाएं एक सुर में यही गुहार लगाती नज़र आईं कि 'बलात्कारियों को फांसी दो', 'नारी शक्ति का ये अपमान नहीं सहेगा हिन्दुस्तान' इन नारों के साथ आज समूची क्रान्ति नगरी आज महिलाओं की आवाज से गूंज उठी.

Meerut, Unnao Gangrape, death of the victim,
मेरठ में डीएम को ज्ञापन सौंपती महिलाएं


गौरतलब है कि उन्नाव गैंगरेप पीड़िता ने शुक्रवार रात 11.40 बजे दम तोड़ दिया. पीड़िता 90 फीसदी जली हुई हालत में दिल्ली लाई गई थी. सफदरजंग अस्पताल में उसका इलाज चल रहा था. उन्नाव में 5 आरोपियों ने उस पर पेट्रोल डालकर उसे जिंदा ही आग के हवाले कर दिया था. अपने गुनहगारों को फांसी के फंदे तक पहुंचते देखने की उसकी ख्वाहिश अधूरी रह गई. उन्नाव की बेटी इन्हीं आखिरी अल्फाज के साथ हमेशा-हमेशा के लिए खामोश हो गई. 24 घंटे तक मौत से जूझते-जूझते उसकी सांसें बोझिल हो गई थीं. आखिरकार शनिवार रात 11 बजकर 40 मिनट पर इंसाफ की अधूरी चाहत के साथ ही वो दुनिया छोड़ गई. ऐसी तमाम घटनाओं को लेकर आज जब आधी आबादी सड़कों पर उतरी तो सभी उनके सुर में सुर मिलाते ही नज़र आए.ये भी पढ़ें - जब ग्रामीणों ने प्रियंका गांधी से कहा 'भूल न जाना' तो उन्होंने दिया ये जवाब...


उन्नाव का दहलाने वाला सच- 11 महीने में 86 रेप की घटनाएं, 185 छेड़छाड़

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेरठ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 7, 2019, 7:22 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर