Home /News /uttar-pradesh /

आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति ने लगाए हिन्दू धर्म मुर्दाबाद के नारे

आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति ने लगाए हिन्दू धर्म मुर्दाबाद के नारे

प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना था कि लगातार दलितों पर उत्पीड़न किया जा रहा है.

प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना था कि लगातार दलितों पर उत्पीड़न किया जा रहा है.

प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना था कि लगातार दलितों पर उत्पीड़न किया जा रहा है.

मेरठ के सरधना कस्बे में दलित लोगों द्वारा आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले एक प्रदर्शन किया गया. इस प्रदर्शन में जाट विरोधी नारेबाजी लगाए गए. साथ ही इन लोगों ने मुस्लिम और दलित एकता के भी नारे लगाए. लेकिन हद तो तब हो गई जब प्रदर्शनकारियों ने हिन्दू धर्म विरोधी नारेबाजी शुरू कर दी और बाकायदा हाथों में पोस्टर और होर्डिंग लेकर प्रदर्शन किया. इन होर्डिंग और पोस्टर्स पर हिन्दू धर्म मुर्दाबाद लिखा था.

प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना था कि लगातार दलितों पर उत्पीड़न किया जा रहा है. उनका कहना है कि हरियाणा में आरक्षण के नाम आंदोलन के दौरान जाटों ने दलित, मुस्लिमों और पिछडो पर अत्याचार किया और उनकी हत्या कर घरों में आगजनी और तोड़फोड़ की. उन्होंने चुनौती दी है कि अगर जाटों को वाकई में लड़ाई लड़नी है तो यहां खुले मैदान में आकर लड़े. प्रदर्शनकारियों का कहना था कि वो ऊधम सिंह महाराज अशोक के वंशज हैं और जिन्होंने गर्दन को धड़ से अलग करने का कार्य किया था.

उन्होंने कहा कि उनका ये प्रदर्शन सम्पूर्ण जाट बिरादरी के खिलाफ है. आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति के महासचिव गौरव पारचा ने कहा कि जबसे भाजपा की सरकार आई है हैदराबाद यूनिवर्सिटी में छात्र रोहित वैमुला की षड्यंत्र के तहत हत्या की गई जिसे आत्महत्या बताया गया. साथ ही में जेएनयू में भी एक दलित छात्र पर भी देशद्रोह का झूठा मुकदमा लगाया गया है जबकि वो अम्बेडकरवादी है. कन्हैया लाल को भी देशद्रोह के मामले में गिरफ्तार किया गया है.

वहीं मेरठ पुलिस ने वीडियो के आधार पर तीन लोगों अमित चौधरी, गौरव पारचा और वली उर रहमान के खिलाफ नामजद और कई अन्ये के खिलाफ धारा 143 ,188,153 A ,341,जिसमें धार्मिक भावना भड़काना में मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी में लग गयी है, लेकिन अभी तक कोई गिरफ्तारी नही हुई है.

Tags: Meerut news, मेरठ

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर