Home /News /uttar-pradesh /

सिमी आतंकियों का खुलासा, बिजनौर समेत कई स्टेशनों को उड़ाने की थी साजिश

सिमी आतंकियों का खुलासा, बिजनौर समेत कई स्टेशनों को उड़ाने की थी साजिश

इसके तहत मोटरसाइकिलों में बम लगाकर विस्फोट किया जाना था. इसके लिए उन्होंने करीब छह मोटरसाइकिलें चुराई थीं.

इसके तहत मोटरसाइकिलों में बम लगाकर विस्फोट किया जाना था. इसके लिए उन्होंने करीब छह मोटरसाइकिलें चुराई थीं.

इसके तहत मोटरसाइकिलों में बम लगाकर विस्फोट किया जाना था. इसके लिए उन्होंने करीब छह मोटरसाइकिलें चुराई थीं.

    ओडिशा के राउरकेला में पिछले दिनों गिरफ्तार किए गए संदिग्ध सिमी आतंकवादियों का इरादा उत्तर प्रदेश के बिजनौर तथा आसपास के भीड़भाड़ वाले रेलवे स्टेशनों पर बम विस्फोट करने का था. आतंकवाद रोधी दस्ते (एसटीएस) की पूछताछ में यह तथ्य सामने आए हैं.

    पुलिस महानिरीक्षक (कानून-व्यवस्था) भगवान स्वरूप ने बताया कि गत 17 फरवरी को राउरकेला में गिरफ्तार सिमी के संदिग्ध आतंकवादियों से पूछताछ के लिए प्रदेश एटीएस की एक टीम भुवनेश्वर गई थी. उन्होंने बताया कि पूछताछ में एटीएस ने पाया कि उन आतंकवादियों की योजना बिजनौर और उसके आसपास के बड़े भीड़भाड़ वाले रेलवे स्टेशनों को उड़ाने की थी. इसके तहत मोटरसाइकिलों में बम लगाकर विस्फोट किया जाना था. इसके लिए उन्होंने करीब छह मोटरसाइकिलें चुराई थीं.

    स्वरूप ने बताया कि सितम्बर 2014 में वे बिजनौर में अपने ठिकाने पर बम बना रहे थे, तभी उसमें विस्फोट हो गया था, इसलिए उन्हें भागना पड़ा था.

    मालूम हो कि गत 17 फरवरी को ओडिशा के राउरकेला में शेख महबूब, अमजद खान, जाकिर हुसैन तथा मुहम्मद सलेक नामक संदिग्ध सिमी आतंकवादियों तथा महबूब की मां नजमा बी को गिरफ्तार किया गया था.

    सितम्बर 2014 में बिजनौर शहर के काजीपाड़ा स्थित एक मकान में हुए विस्फोट में महबूब गम्भीर रूप से घायल हो गया था. आरोप है कि महबूब और उसके साथी वर्ष 2013 में मुजफ्फरनगर में हुए साम्प्रदायिक दंगों का बदला लेने के लिये दहशत फैलाने की फिराक में थे लेकिन बिजनौर में निर्माण के दौरान बम फटने से उनकी योजना पर पानी फिर गया था.

    Tags: Bijnor news, Odisha

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर