Assembly Banner 2021

Kisan Aandolan: मेरठ में आज जयंत चौधरी तो कल अरविंद केजरीवाल की महापंचायत, AAP लगा रही एड़ी चोटी का जोर

पंचायतों को लेकर वोट बैंक की राजनीति रफ्तार पकड़ चुकी है.

पंचायतों को लेकर वोट बैंक की राजनीति रफ्तार पकड़ चुकी है.

आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मेरठ में 28 फरवरी को होने वाली किसान पंचायत को लेकर पार्टी कार्यकर्ता एड़ी-चोटी का ज़ोर लगा रहे हैं. सांसद संजय सिंह पश्चिमी यूपी में डेरा डाले हुए हैं.

  • Share this:
मेरठ. पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आजकल पंचायतों की आंधी है. इस कड़ी में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 28 फरवरी को किसान महापंचायत को संबोधित करेंगे. इसे लेकर आप सांसद संजय सिंह आजकल यहीं डेरा डाले हुए हैं. पंचायत को सफल बनाने को लेकर आप कार्यकर्ता भी एड़ी-चोटी का जोर लगाए हुए हैं. पंचायतों को लेकर वोट बैंक की राजनीति कितनी रफ्तार पकड़ चुकी है, इसका अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कल 27 फरवरी को रालोद नेता जयंत चौधरी भी एक किसान पंचायत को संबोधित करेंगे. इसके बाद अरविंद केजरीवाल की भी किसान पंचायत होगी. इसके बाद उम्मीद जताई जा रही है कि कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी भी मेरठ में किसान पंचायत कर सकती हैं.

28 फरवरी को मेरठ मे होनी वाली किसान महापंचायत को लेकर आप सांसद संजय सिंह ने बताया कि पूरे पश्चिमी उत्तर प्रदेश से भारी संख्या मे किसान नेता, खाप पंचायत सदस्यों सहित हजारोंं किसान दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के संबोधन मे हिस्सा लेने के लिए पहुंचेंगे. मेरठ में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए संजय सिंह ने उत्तर प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए बताया कि अगर भाजपा सरकार का कृषि बिल किसानों के लिए वाकई लाभदायक है तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव पार्टियों के सिंबल पर कराएं.

संजय सिंह ने मोदी सरकार पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि सरकार लगातार लगातार देश की संपत्तियों को बेच रही है. सिंह ने कहा कि केन्द्र सरकार कृषि बिल की आड़ में किसानों की जमीन, खेती को बेचने का षड्यंत्र रच रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज