हिंदू महासभा के नेता की अजब अपील, कहा- हिंदू 100 रुपए कमाता है तो 20 का खरीदे हथियार

अशोक शर्मा ने कहा कि सभी हिंदू देवी- देवताओं के पास शस्त्र होते हैं.
अशोक शर्मा ने कहा कि सभी हिंदू देवी- देवताओं के पास शस्त्र होते हैं.

विजयादशमी के मौके पर शस्त्रपूजन कार्यक्रम के बाद अखिल भारत हिन्दू महासभा के नेता ने दिया बयान. बागपत में दाढ़ी रखने वाले दारोगा को बर्खास्त करने की भी उठाई मांग.

  • Share this:
मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut) में अखिल भारत हिन्दू महासभा (Hindu Mahasabha) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पंडित अशोक शर्मा (Pandit Ashok Sharma) ने विजयादशमी पर शस्त्र पूजन करने के बाद बड़ा  बयान दिया है. उन्होंने कहा कि आज विजयादशमी है और इस दिन हर हिन्दू को ये संकल्प लेना चाहिए कि अगर वह 100  रुपए कमाता है तो उसमें से 20 रुपए का हथियार खरीदे. हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पंडित अशोक शर्मा ने कहा कि सभी हिंदू देवी- देवताओं के पास शस्त्र होते हैं. ऐसे में हर हिन्दू को अपनी आत्मरक्षा के लिए शस्त्र रखना चाहिए. फिर चाहे वो त्रिशूल, गदा, लाठी-डंडा ही क्यों न हो. हिन्दू महासभा ने कार्यकर्ताओं को इस मौके पर शस्त्र वितरण प्रतीक रूप में दिया. वहीं, महासभा के प्रदेश प्रवक्ता अभिषेक अग्रवाल (Abhishek Aggarwal) ने कहा कि बहन-बेटी की हिफाज़त के लिए हथियार आवश्यक है. उन्होंने कहा कि शास्त्रों की रक्षा के लिए शस्त्र उठाना आवश्यक है.

साथ ही अशोक शर्मा ने बागपत में लंबी दाढ़ी रखने के बाद विवाद में आए दारोगा को बर्खास्त करने की मांग भी की है. उन्होंने कहा कि देश के अंदर कट्टरवाद का बीज बोया जा रहा है. शर्मा ने बागपत के दारोगा को दुर्भाग्यशाली बताते हुए कहा कि उन्होंने धर्म का प्रचार करने के लिए दाढ़ी रखी थी. लेकिन बाद में नौकरी की लालच में वो अपने धर्म को भूल गए. पंडित अशोक शर्मा ने कहा कि जब उन्हें नौकरी से सस्पेंड किया गया तो उन्होंने आऩन-फानन में दाढ़ी कटवा ली.

उन्होंने कहा कि अगर दारोगा जी धर्म के पक्के थे तो उन्हें दाढ़ी नहीं कटवानी चाहिए थी. पंडित अशोक शर्मा ने कहा जब बात नौकरी पर आई थी कट्टर दारोगा जी डर कर भाग गए. अखिल भारत हिन्दू महासभा ने भारत सरकार से मांग की है कि ऐसे कट्टर दारोगा को बर्खास्त कर देना चाहिए. बता दें कि दारोगा ने दाढ़ी कटवाने के बाद फिर से नौकरी ज्वाइन कर ली है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज