होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

मेरठ में जब बजा ’मेरा रंग दे बसंती...’ तो 80 साल की बुजुर्ग की रगों में दौड़ी देशभक्ति

मेरठ में जब बजा ’मेरा रंग दे बसंती...’ तो 80 साल की बुजुर्ग की रगों में दौड़ी देशभक्ति

’मेरा रंग दे बसंती चोला..’ बजा तो 80 साल की रामकली ने डांस करना शुरू कर दिया.

’मेरा रंग दे बसंती चोला..’ बजा तो 80 साल की रामकली ने डांस करना शुरू कर दिया.

Meerut News: दूसरी तरफ स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए पूरा मेरठ तैयार हो चुका है. आज़ादी के अमृत महोत्सव पर शहर की इमारतें भी तिरंगे के रंग में नहाई हुई हैं. मेरठ के ऐतिहासिक घंटाघर तो लोगों के लिए सेल्फी पॉइंट बन चुका है. इसके अलावा अमर जवान ज्योति, शहीद स्मारक पर भी काफी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

बुज़ुर्ग महिला के कदम ’मेरा रंग दे बसंती चोला’ गीत पर थिरक उठे.
15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए पूरा मेरठ तैयार हो चुका है.

मेरठ. पूरे उत्तर प्रदेश में आज़ादी का महापर्व मनाया जा रहा है. क्रांति की नगरी मेरठ की तरफ देखें तो यहां की छठा ही निराली नजर आ रही है. कहते हैं ना जब देशभक्ति गाने बजते हैं तो कदम अपने आप थिरकने लगते हैं. ऐसा ही एक नजारा आज मेरठ में भी देखने को मिला. 80 साल की एक बुज़ुर्ग महिला के कदम ’मेरा रंग दे बसंती चोला’ गीत पर थिरक उठे. अस्सी साल की महिला का ये उत्साह देखकर अन्य महिलाओं ने उन्हें गोद में उठा लिया.

दरअसल, आजादी के अमृत महोत्सव के तहत जैसे ही मोहम्मद रफी की आवाज से सजा ’शहीद’ फिल्म का गाना ’मेरा रंग दे बसंती चोला..’ बजा तो हाथ में तिरंगा लेकर 80 साल की रामकली ने डांस करना शुरू कर दिया. उनके जज्बे को देखकर लोगों ने तालियों से उनका उत्साहवर्द्धन किया. मल्हू सिंह स्कूल की प्रिंसिपल डॉ. नीरा तोमर ने बुजुर्ग महिला में देश प्रेम की भावना देखकर उन्हें गोद में उठा लिया. इसके बाद भी रामकली रुकी नहीं और प्रिंसिपल की गोद में ही थिरकती रहीं.

इन दिनों पूरे शहर का कोना-कोना तिरंगे के तीन रंगों से सराबोर है. शहर से गांव तक आजादी के तराने गूंज रहे हैं. स्वतंत्रता दिवस के जश्न में लोग जाति, उम्र का भेद भूलकर खुशियां मना रहे हैं. मेरठ के दौराला में भी जब एक बुजुर्ग महिला ने चौराहे पर देशभक्ति के तराने सुने तो खुद को झूमने से रोक नहीं पाईं. 80 साल की रामकली हाथ में तिरंगा लिए थिरकने लगीं. बुजुर्ग में देशभक्ति का ये जज्बा देखकर दूसरे लोग हैरान रह गए.

दरअसल, मेरठ के दौराला, मटौर के मल्हू सिंह आर्य कन्या इंटर कॉलेज की तरफ से स्कूल के बाहर आजादी के अमृत महोत्सव के तहत कार्यक्रम हो रहा था. इसमें स्पीकर पर देशभक्ति के तराने बजाए जा रहे थे. साथ ही स्कूल प्रिंसिपल, टीचर मिलकर तिरंगा यात्रा निकाल रही थीं. टीचर्स के साथ गांव की कुछ महिलाएं भी इसमें शामिल थीं.

देशभक्ति गीत ने भर दिया जोश
स्पीकर पर देशभक्ति गीत सुनकर प्रिंसिपल डॉ. नीरा तोमर और स्कूल टीचर्स वहीं रुककर भारत माता के नारे लगाने लगीं. तो कुछ महिलाएं डांस भी करने लगीं. कस्बे में रहने वाली 80 साल की बुजुर्ग महिला ने जैसे ही दूसरी औरतों और टीचर्स को भारत माता का नारा लगाकर हाथ में तिरंगा लिए देखा तो खुद को रोक नहीं सकीं. वो भी इस आयोजन में आ गईं. जैसे ही टीचर्स, महिलाएं गीतों पर थिरकना शुरू हुईं तो बुजुर्ग महिला भी तिरंगा लेकर नाचने लगीं.

तिरंगे सा हुआ मेरठ
दूसरी तरफ स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए पूरा मेरठ तैयार हो चुका है. आजादी के अमृत महोत्सव पर शहर की इमारतें भी तिरंगे के रंग में नहाई हुई हैं. मेरठ के ऐतिहासिक घंटाघर तो लोगों के लिए सेल्फी पॉइंट बन चुका है. इसके अलावा अमर जवान ज्योति, शहीद स्मारक पर भी काफी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं.

Tags: Azadi Ka Amrit Mahotsav, Meerut city news, Meerut news, UP news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर