Home /News /uttar-pradesh /

बाहुबली अतीक अहमद की बीवी ने ओवैसी के मंच से पढ़ी भावुक चिट्ठी, लोगों से कहा- पति की रिहाई की दुआ करें

बाहुबली अतीक अहमद की बीवी ने ओवैसी के मंच से पढ़ी भावुक चिट्ठी, लोगों से कहा- पति की रिहाई की दुआ करें

मेरठ में एआईएमआईएम के कार्यक्रम में बाहुबली अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता बेटे अली के साथ पहुंची.

मेरठ में एआईएमआईएम के कार्यक्रम में बाहुबली अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता बेटे अली के साथ पहुंची.

Atiq Ahmed news: मेरठ में एआईएमआईएम के कार्यक्रम में बाहुबली अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता अपने बेटे अली के साथ पहुंची. शाइस्ता ने अतीक अहमद की चिट्ठी पढ़ी और लोगों से अपील की कि वे उनके पति की रिहाई के लिए दुआ करें.

मेरठ. जेल में बंद बाहुबली अतीक अहमद की पत्नी मेरठ में एआईएमआईएम के कार्यक्रम में पार्टी के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के साथ मंच पर दिखीं. बाहुबली अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता यहां अपने बेटे अली के साथ पहुंची थीं. शाइस्ता ने जनता को संबोधित किया और बाहुबली पति की चिट्ठी पढ़ी. भावुक होकर चिट्ठी पढ़ते समय शाइस्ता ने लोगों से अपील की कि वे उनके पति अतीक अहमद की रिहाई के लिए दुआ करें.

बाहुबली की चिट्ठी पढ़ते हुए पत्नी शाईस्ता ने कहा कि अतीक अहमद अहमदाबाद की जेल में हैं. अतीक अहमद का छोटा भाई अशरफ बरेली जेल में है. बड़ा बेटा उमर जो कि सिर्फ 23 साल का है उसे भी फर्जी़ मुकदमों में फंसाया गया है. शाईस्ता ने कहा कि मुसलमान वोट का समंदर है और उसे शक की नजर से देखा जाता है, जबकि इतिहास गवाह है कि मुसलमानों ने मुल्क के साथ हमेशा वफादारी की है.

गौरतलब है कि गुजरात की साबरमती जेल में बाहुबली अतीक बंद है. अतीक अहमद की चिट्ठी के बाद एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने सपा बसपा कांग्रेस भाजपा पर तीखा प्रहार किया. जनसभा को संबोधित करते हुए ओवैसी यहां तक कह गए कि मेरठ के गाजियों ने अंग्रेजों की ईंट से ईंट बजा दी थी. 1857 में अंग्रेजों के खिलाफ जेहाद हुआ था और अब इंसाफ के लिए उठना पड़ेगा.

ओवैसी ने कहा कि तुम इस तारीख की सरजमीं पर बसने वाले लोग हो तुम एक चिंगारी दिखाओ. एक हरकत दिखाओ जिस तरह हमारे तुम्हारे बुज़ुर्गों ने सन् सत्तावन में अंग्रेज़ों के खिलाफ जेहाद किया था. उन्होंने कहा कि मेरठ की ज़मीं पर बसने वाले लोग तुम आज़ादी के वारिस हो. तुमको हरकत करना पड़ेगा. तुम्हें इंसाफ के लिए उठना पड़ेगा. तुमको मायूसी को खत्म करना पड़ेगा. तुम्हें अपनी बुजुर्गों की कहानियों को दोहराना पड़ेगा.

Tags: AIMIM, Asaduddin owaisi, Atiq Ahmed, Meerut news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर