• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • बेरूत हादसे की शिकार मेरठ की पत्रकार आंचल के परिजनों ने सरकार के सामने रखी ये मांग...

बेरूत हादसे की शिकार मेरठ की पत्रकार आंचल के परिजनों ने सरकार के सामने रखी ये मांग...

पत्रकार आंचल के परिजन मोबाइल में मेरठ की बेटी की तस्वीर दिखाते हुए.

पत्रकार आंचल के परिजन मोबाइल में मेरठ की बेटी की तस्वीर दिखाते हुए.

आंचल का परिवार अपनी लाडली के पास इस मुश्किल वक्त में जाना चाहता है, लेकिन वे कोरोना की वजह से बेबस हैं. लिहाजा उन्होंने सरकार से गुहार लगाई है कि परिवार के किसी भी एक सदस्य को बेरूत जाने की अनुमति दी जाए.

  • Share this:
मेरठ. मंगलवार रात लेबनान (Lebanon) की राजधानी बेरूत (Beirut) एक भीषण धमाके से हिल गई थी. बेरूत के बंदरगाह पर हुए इस हादसे में 137 लोग मारे गए और हजारों घायल हो गए. इस धमाके में मेरठ (Meerut) की पत्रकार आंचल भी जख्मी हुई हैं. आंचल के परिजन सरकार से गुहार लगा रहे हैं कि उन्हें बेरूत भेजने का प्रबंध किया जाए.

बेरूत में अच्छा इलाज मिल रहा

हालांकि परिजनों का कहना है कि लेबनान के बेरूत में मेरठ की बेटी को अच्छा इलाज मिल रहा है और वहां इंडियन एंबेसी के लोग भी काफी मदद कर रहे हैं. फिर भी अगर उनके परिवार के किसी भी एक सदस्य को वहां जाने का प्रबंध सरकार की तरफ से कर दिया जाए तो और बेहतर होगा.

सिर्फ पांच मिनट के लिए बात हो पाई

मेरठ के शास्त्रीनगर में रह रहे पत्रकार आंचल के परिवारवाले बताते हैं कि इस भयानक हादसे के बाद सिर्फ पांच मिनट के लिए उनकी बात हो पाई है. आंचल ने फोन पर सिर्फ इतना बताया कि वह एक भयानक हादसे का शिकार हुई हैं. उन्होंने यह भी कहा है कि उन्हें मामूली चोट आई है, इस भयानक हादसे में वह बाल-बाल बच गई हैं. प्राथमिक उपचार (First Aid) के बाद वह अपने दोस्त के घर पर हैं. बेरूत में आंचल से भारतीय राजदूत ने भी मुलाकात कर हालचाल जाना है.

कोरोना के कारण बेबसी

लेबनान के बेरूत में कार्य कर रहीं पत्रकार आंचल वोहरा के भाई अंकित ने बताया कि उन्होंने पहले देश के कई मीडिया हाउस में काम किया है. लेकिन आजकल वे वॉयस ऑफ अमेरिका के लिए काम करती हैं. आंचल ने करीब सात साल पहले जर्मन में रहनेवाले एक शख्स से शादी की थी. तब से वो लेबनान में ही रहती हैं. आंचल का परिवार अपनी लाडली के पास इतने मुश्किल वक्त में जाना चाहता है, लेकिन वे कोरोना की वजह से बेबस हैं. लिहाजा परिवार ने सरकार से गुहार लगाई है कि उनके परिवार के किसी भी एक सदस्य को बेरूत जाने की अनुमति दी जाए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज