मेरठ में भीषण आगजनी और उपद्रव मामले में निकला बीजेपी कनेक्शन, पुलिस ने कहा-सोची-समझी साजिश

पुलिस की तरफ से बयान जारी किया गया है कि आगजनी और उपद्रव एक सोची-समझी साजिश थी. पुलिस ने इस उपद्रव को फैलाने के लिए जिसे मुख्य तौर पर जिम्मेदार मान रही है वह भारतीय जनता पार्टी के अल्पसंख्यक मोर्चे का कथित नेता हैं.

News18 Uttar Pradesh
Updated: March 10, 2019, 4:56 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: March 10, 2019, 4:56 PM IST
मेरठ में भीषण आगजनी और उपद्रव मामले में अब बीजेपी कनेक्शन निकलकर सामने आ रहा है. पुलिस की तरफ से बयान जारी किया गया है कि आगजनी और उपद्रव एक सोची-समझी साजिश थी. पुलिस ने इस उपद्रव को फैलाने के लिए जिसे मुख्य तौर पर जिम्मेदार मान रही है वह भारतीय जनता पार्टी के अल्पसंख्यक मोर्चे का कथित नेता हैं. पुलिस ने शाहिद भारती नाम के इस मुख्य आरोपी पर 25 हजार रुपए का इनाम घोषित कर दिया है. इस पर सर्कल ऑफिसर (सीओ) राम अर्ज ने बताया कि पुलिस को पुख्ता प्रमाण मिले हैं कि शाहिद भारती ने ही माहौल को भड़काया ताकि उन्माद फैल जाएं.

घटना सदर बाजार थाना क्षेत्र के मछेरान इलाके की है. जहां बुधवार को इस इलाके में भीषण आग लग गई. आग इस कदर भीषण थी हजारों लोगों की जान पर बन आई. करीब डेढ़ सौ झोपड़ियां जलकर राख हो गई. इस मामले में पुलिस और प्रशासन ने त्वरित कार्यवाही तो की इससे लोगों की जान बच गई. लेकिन आशियाने तबाह हो गए. इसे देखते हुए डीएम ने मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए थे.

पुलिस ने इस मामले में दो मुकदमे दर्ज किए, इसमें एक उपद्रव फैलाने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया और दूसरा छावनी परिषद व पुलिस के साथ मारपीट मामले में भी मुकदमा दर्ज किया गया है. इसके बाद अब जांच आगे बढ़ी तो हकीकत भी खुलकर सामने आ गई. पुलिस ने इस अग्निकांड को अंजाम देने और उपद्रव फैलाने के मामले में फोटो और वीडियो के आधार पर अब तक करीब 2 दर्जन से अधिक लोगों को चिन्हित कर लिया गया है. इसमें से दो आरोपियों की गिरफ्तारी भी कर ली गई है.



(निखिल अग्रवाल की रिपोर्ट)

ये भई पढ़ें -


Loading...





Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...