मेरठ में शुरू हुई BJP प्रदेश कार्यसमिति की बैठक, राजनाथ सिंह ने किया उद्घाटन

दूसरे दिन यानी रविवार को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह मेरठ पहुंचेंगे. जहां प्रदेश अध्यक्ष डा. महेंद्रनाथ पाण्डेय संगठनात्मक गतिविधियों की रिपोर्ट पेश करेंगे.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 11, 2018, 5:17 PM IST
मेरठ में शुरू हुई BJP प्रदेश कार्यसमिति की बैठक, राजनाथ सिंह ने किया उद्घाटन
प्रदेश कार्यसमिति की बैठक
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 11, 2018, 5:17 PM IST
मेरठ में बीजेपी की दो दिवसीय प्रदेश कार्यसमिति की बैठक शनिवार को शुरू हो चुकी है. बैठक में  पहुंचे गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने विधिवत उद्घाटन किया. इस मौके पर सीएम योगी यूपी बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्रनाथ पांडेय समेत बीजेपी के कई नेता मंच पर मौजूद है. यूपी में फिर जीत के विश्वास और संकल्प के साथ बीजेपी के 68 सांसद, 324 विधायक, 92 जिला और महानगर अध्यक्ष और संगठन के पदाधिकारी यानी करीब एक हजार लोग दो दिनों तक सियासी पाठ पढ़ेंगे.

पढ़ें: मेरठ में आज से BJP नेताओं की पाठशाला, 2019 चुनाव से पहले महामंथन

दरअसल, 2019 के लोकसभा चुनाव में जीत का मंत्र खोजने के लिए 11 और 12 अगस्त को मेरठ की धरती पर बीजेपी महामंथन करेगी. कई मायनों में बेहद खास मानी जा रही इस बैठक को असरदार बनाने के लिए पश्चिमी क्षेत्र के पार्टी पदाधिकारी रात-दिन एक किए हुए हैं. तमाम व्यवस्थाओं को सटीक बनाने के लिए टीमें बनाकर जिम्मेदारी बांटी गई है. इस कार्यसमिति में पूरी तरह 2019 विजय को लेकर ही फोकस रहेगा. बीजेपी की कोशिश होगी कि वेस्ट यूपी की भूमि से 2014 और 2017 की तरह कामयाबी की हैट्रिक लगाई जाए.

यूपी बीजेपी अध्यक्ष डॉ. महेंद्रनाथ पांडेय


पढ़ें: पश्चिमी यूपी के वोट बैंक पर BJP की नजर, बैठक में तय होगा 2019 चुनाव का रोड मैप

दूसरे दिन यानी रविवार को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह मेरठ पहुंचेंगे. जहां प्रदेश अध्यक्ष डा. महेंद्रनाथ पाण्डेय संगठनात्मक गतिविधियों की रिपोर्ट पेश करेंगे. इसके अलावा लोकसभा चुनावों तक चलने वाले अभियानों और कार्यक्रमों का ब्योरा पेश किया जाएगा. इसी दिन 73 से अधिक सीटों को जीतने और वोट प्रतिशत 51 प्रतिशत तक बढ़ाने के लक्ष्य को यूपी के बीजेपी सांसदों और विधायकों के साथ  मंथन होगा.

पढ़ें: यूपी में ऑपरेशन 'ट्रिपल एम' के जरिए सपा-बसपा गठजोड़ को मात देगी भाजपा!
Loading...

बता दें कि पार्टी अब सपा के यादव समाज और बसपा के जाटव समाज के वोट बैंक से इतर गैर यादव पिछड़ों और गैर जाटव दलितों को साथ लेने की जुगत में अभी से जुट गई है. इसी के तहत अभी हाल में प्रजापति, राजभर व नाई समाज के सम्मेलन किए गए थे.

(रिपोर्ट: निखिल अग्रवाल)

यह भी पढ़ें:

गोरखपुर ऑक्सीजन कांड का एक साल- कब थमेगा मौत का ये सिलसिला

NH-28 पर निर्माणाधीन फ्लाईओवर गिरा, चार मजदूर गंभीर, दो अन्‍य के फंसे होने की आशंका

देवरिया शेल्टर होम के क्लर्क का दावा, इन वजहों से लगा देह व्यापार का आरोप

 

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर