लाइव टीवी

UN mission पर जाने से पहले BSF के जवानों को मेरठ में दी गई विशेष ट्रेनिंग

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 6, 2020, 11:07 PM IST
UN mission पर जाने से पहले BSF के जवानों को मेरठ में दी गई विशेष ट्रेनिंग
बीएसएफ के जवानों को विशेष ट्रेनिंग (फ़ाइल तस्वीर)

इन जवानों को लीथल वेपन (Lethal Weapon) के बारे में भी बताया गया और साथ ही साथ अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकारों के बारे में भी जानकारी दी गई.

  • Share this:
मेरठ. आजकल यूपी के मेरठ में आरएएफ (RAF) एक सौ आठवीं बटालियन में बीएसएफ (BSF) के जवानों का दल पहुंचा हुआ है. यह दल दरअसल एक खास ट्रेनिंग के लिए मेरठ आया है. हर साल बीएसएफ (BSF) के जवान यूएन मिशन पर जाते हैं. इस साल भी बीएसएफ के जवानों का दल यूएन मिशन (UN Mission) पर जाने वाला है. इस मिशन पर जाने से पहले बीएसएफ के जवानों को विशेष ट्रेनिंग भी दी जाती है.

तीन दिवसीय प्रशिक्षण में सीखीं बारीकियां
इसी ट्रेनिंग की कड़ी में बीएसएफ के जवानों को मेरठ में विशेष ट्रेनिंग दी गई. अलग अलग राज्यों के रहने वाले इन जवानों को इस मिशन के लिए खासतौर पर चुना गया है. यूएन मिशन पर जाने वाली बीएसएफ के जवानों को इसमें चयन के लिए एक विशेष प्रक्रिया से गुजरना पड़ता है. ये जवान जब इस मिशन पर जाएंगे तब वहां पर मौजूद वर्तमान टुकड़ी को वापस हिन्दुस्तान भेजा जाएगा. यूएन मिशन पर जाने से पहले बीएसएफ के अधिकारी और जवानों ने आरएएफ के रेपो में जमकर कई बारीकियां सीखीं.

आरएएफ (RAF) एकेडमी फॉर पब्लिक ऑर्डर (Academy for Public Order) में बीएसएफ के बीस अधिकारियों और जवानों को तीन दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया और इस प्रशिक्षण के दौरान इन्हें क्राउड मैनेजमेंट (Crowd Management) से लेकर मैनेजमेंट के गुर सिखाए गए. रेपो प्रभारी वीजेन्द्र सिंह भाटी ने बताया कि टीम में एक कमांडेंट, एक सेकेंड इन कमान अधिकारी, दो डिप्टी कमांडेंट, चार इंस्पेक्टर, दो हेड कांस्टेबल समेत बीस जवानों की टीम है.

इन जवानों को लीथल वेपन (Lethal Weapon) के बारे में भी बताया गया और साथ ही साथ अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकारों के बारे में भी जानकारी दी गई. प्रशिक्षण के बाद ये टीम कांगो (Congo) के लिए रवाना हो जाएगी जहां एक साल तक ये जवान अपनी सेवाएं देगें. गौरतलब है कि बीएसएफ के जवानों को पहले जम्मू पुलिस के जवानों को रेपो में पन्द्रह दिवसीय प्रशिक्षण दिया गया था. रेपो प्रभारी ने बताया कि रेपो दंगा नियंत्रण, भीड़ प्रबंधन और लोक व्यवस्था क्षेत्र में भारत का प्रथम और एकमात्र प्रशिक्षण केन्द्र है.

ये भी पढ़ें- CAA के समर्थन में उतरे बुजुर्ग, तिरंगे व बैनर के साथ निकाली रैली

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेरठ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 11:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर