Assembly Banner 2021

Meerut News: दिल्ली से हरिद्वार जा रही बस गंग नहर में गिरी, बाल-बाल बचे मुसाफिर

Meerut Bus Accident : दिल्ली से हरिद्वार जा रही बस नहर में गिरी, सभी यात्री सुरक्षित.

Meerut Bus Accident : दिल्ली से हरिद्वार जा रही बस नहर में गिरी, सभी यात्री सुरक्षित.

दिल्ली से हरिद्वार जा रही बस के सामने अचानक तेज रफ्तार वाहन के आने से ड्राइवर ने खोया नियंत्रण. सड़क किनारे पेड़ से टकराने के बाद गंग नहर में गिर गई मिनी बस. पुलिस ने घंटों तक रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर सभी यात्रियों को बाहर निकाला.

  • Share this:
मेरठ. शनिवार-रविवार की दरम्यानी रात मेरठ में बड़ा हादसा हो गया. दिल्ली से हरिद्वार जा रही एक मिनी बस गंग नहर में पलट गई. मिनी बस में सवार आधा दर्जन लोग घायल हो गए. हालांकि इस हादसे में किसी भी यात्री की जान नहीं गई और सभी सुरक्षित हैं. पुलिस ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर पीड़ितों को बस से बाहर निकाला, जिसके बाद सभी मुसाफिरों के लिए दूसरी बस मंगाई गई. इसके बाद सभी लोगों को हरिद्वार भेजा गया. आपको बता दें कि इसके पहले भी इसी गंग नहर में दर्जनों हादसे सामने आ चुके हैं, जिसमें काफी लोग अपनी जान भी गंवा चुके हैं.

घटना मेरठ के थाना सरधना क्षेत्र के चौधरी चरण सिंह कांवड़ मार्ग की है. गंगा स्नान के लिए करीब डेढ़ दर्जन लोग मिनी बस में सवार होकर दिल्ली से हरिद्वार जा रहे थे. मेरठ के चौधरी चरण सिंह कांवड़ मार्ग पर बहादुरपुर गांव के निकट अचानक एक तेज रफ्तार वाहन बस के सामने आ गया. इससे बचने के दौरान ड्राइवर बस पर से अपना नियंत्रण खो बैठा और बस अनियंत्रित होकर एक पेड़ से टकरा गई. इसके बाद रेलिंग तोड़ती हुई नहर में गिर गई.

अचानक हुए हादसे से हाईवे पर चीख-पुकार मच गई. भीषण हादसा देख कर  सड़क पर चल रहे वाहन चालक भी रुक गए. तुरंत ही किसी ने पुलिस को बस दुर्घटना की सूचना दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने आनन-फानन में रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कराया और बस में सवार यात्रियों को नहर से बाहर निकाला गया. घायल लोगों को बस से निकालकर अस्पताल में भर्ती कराया गया. पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बस में सवार सभी लोग सुरक्षित हैं. कुछ लोगों को मामूली चोटें आई हैं.



आपको बता दें कि गंग नहर कांवड़ मार्ग पर लगातार हादसे होते रहते हैं, जिसमें कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. खूनी नहर वाले इस रास्ते पर हादसे न हों, इसके लिए कई बार स्थानीय लोगों ने मांग की है, लेकिन अभी तक पीडब्लूडी या किसी अन्य विभाग ने हादसों से निपटने के लिए कोई इंतजाम नहीं किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज