होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /10 के 40, 15 के 60... ये सट्टा नहीं बल्कि CCSU का रिजल्ट है, देखें फेल स्टूडेंट्स को कैसे मिले चार गुना नंबर

10 के 40, 15 के 60... ये सट्टा नहीं बल्कि CCSU का रिजल्ट है, देखें फेल स्टूडेंट्स को कैसे मिले चार गुना नंबर

मेरठ की यूनिवर्सिटी में इन दिनों छात्र छात्राएं अपने रिजल्ट को लेकर हैरान परेशान हैं और मूल्यांकन में लापरवाही बरतने के ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट – विशाल भटनागर

    मेरठ. चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय में मेडिकल से संबंधित विभिन्न परीक्षाओं के रिजल्ट को लेकर हंगामा मचा हुआ है. जैसे ही परिणाम जारी हुए काफी संख्या में स्टूडेंट फेल हो गए या फिर नंबर काफी काम मिले लेकिन स्टूडेंट्स की ओर से मूल्यांकन को चुनौती दी गई तो सभी के नंबर दोगुने हो गए. अब आप सोच रहे होंगे कि ऐसे कैसे हो सकता है, लेकिन सीसीएसयू में इन दिनों चर्चा ही नहीं, बल्कि अच्छे-खासे हो हल्ले का कारण यही रिजल्ट बना हुआ है. विश्वविद्यालय के मूल्यांकन में बढ़ती गड़बड़ियों को देख छात्र-छात्राओं ने अब आवाज उठानी शुरू कर दी है. छात्रों का कहना है कि जिस तरीके से कॉपियों के मूल्यांकन में गड़बड़ी देखी जा रही है, वह कहीं न कहीं छात्रों के हितों से खिलवाड़ है.

    दरअसल जिन छात्रों के मुख्य परीक्षा परिणाम में 15 से 20 नंबर आए, ऐसे सभी छात्र-छात्राओं ने चुनौती मूल्यांकन का सहारा लिया. विश्वविद्यालय द्वारा वेबसाइट पर जारी किए गए चुनौती मूल्यांकन अपडेट परिणाम के अनुसार जिन छात्रों के मुख्य परीक्षा में 15 नंबर आए थे, उनके 60 नंबर हो गए. इसी प्रकार 12 नंबर पाने वाले स्टूडेंट के नंबर 50 हो गए. 10 नंबर वाले का 40 हो गए. विश्वविद्यालय में कुल 100 ऐसे स्टूडेंट के नंबर बढ़े हैं, जिन्होंने चुनौती मूल्यांकन का सहारा लिया.

    आपके शहर से (मेरठ)

    कितना है चुनौती मूल्यांकन का शुल्क?

    विश्वविद्यालय कह प्रक्रिया के मुताबिक अगर आप चुनौती मूल्यांकन के लिए आवेदन करते हैं तो यूनिवर्सिटी दो परीक्षाकों को बुलाती है और फिर कॉपी चेक करवाती है. परीक्षकों के नंबरों के आधार पर ही एवरेज नंबर छात्र-छात्राओं को दिए जाते हैं. लेकिन इसके लिए विश्वविद्यालय छात्रों से ₹3000 शुल्क लेता है. नंबर बढ़ने पर इनमें से कुछ शुल्क विश्वविद्यालय द्वारा छात्रों को वापस दे दिया जाता है. गौरतलब है कि विश्वविद्यालय की परीक्षाओं की कॉपियों की जांच मूल्यांकन की गड़बड़ी मेडिकल के अलावा और भी परीक्षाओं के रिजल्ट को संदिग्ध बना रही है.

    Tags: Exam Results, Meerut news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें