होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

UP: मेरठ मेडिकल कॉलेज में होगा बच्चों के दिल का इलाज, कम खर्च में मिलेगी हाईटेक सुविधाएं

UP: मेरठ मेडिकल कॉलेज में होगा बच्चों के दिल का इलाज, कम खर्च में मिलेगी हाईटेक सुविधाएं

Meerut News: वेस्ट यूपी में मेरठ कार्डियक बीमारियों के इलाज का हब है. Image - Canva

Meerut News: वेस्ट यूपी में मेरठ कार्डियक बीमारियों के इलाज का हब है. Image - Canva

Meerut News: मेरठ में दिल की बीमारियों का इलाज करने वाले नामी चिकित्सक और अस्पताल हैं. वेस्ट यूपी में मेरठ कार्डियक बीमारियों के इलाज का हब है. मेरठ मंडल के सभी जिलों के अलावा सहारनपुर मंडल, बिजनौर जिलों तक के मरीज, किसान मेरठ में दिल की बीमारियों का इलाज कराने आते हैं. एम्स जैसी सुविधाएं उन्हें मेरठ में मिलती हैं. मजबूरी का फायदा उठाकर निजी अस्पतालों के चिकित्सक ग्रामीणों से स्टेंट, सर्जरी, एंजियोग्राफी, एंजियाेप्लास्टी के नाम पर मोटी फीस लेते हैं.

अधिक पढ़ें ...

मेरठ. मेरठ के लालालाजपत राय मेडिकल कॉलेज (Meerut Medical College) में अब दिल (Heart) के रोगियों का भी इलाज होगा. यहां हार्ट के इलाज के लिए बिलकुल एडवांस मशीनें मौजूद हैं. और बाल हृदय रोग संबंधित सेवाएं नियमित रूप से शुरू हैं. पीडियाट्रिक कार्डियोलॉजिस्ट डॉक्टर मुनीष तोमर का कहना है कि मेरठ मेडिकल कॉलेज में ईको और बच्चों में दिल की जन्मजात बीमारियों का हाईटेक इलाज संभव है. उन्होंने बताया कि सुपर स्पेशलिटी ब्लॉक में बाल मरीजों के लिए हाईटेक व्यवस्थाएं हैं और बहुत जल्द बच्चों में हार्ट सर्जरी की भी सुविधाएं भी शुरू हो जाएंगी. तोमर ने कहा कि बच्चों की बीमारी को गंभीरता से लेते हुए इलाज के लिए लोग मेडिकल कॉलेज में मंगलवार और शुक्रवार को विशेष ओपीडी की भी व्यवस्था की गई है.

मेडिकल कॉलेज में एंजियोग्राफी पहले से होती है अब एंजियोप्लास्टी, एंजियोग्राफी, ईको और टीएमटी भी होगा. दिल की पांच बड़ी जांचों की सुविधा मरीजों को यही मिलेगी, बाहर भटकना नहीं पड़ेगा. बच्चों के दिल के बॉल्व, दिल में छेद व दिल से जुड़ी सभी गंभीर परेशानी के इलाज के लिए पीडिया कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. मुनेश तोमर हैं. एडल्ट्स में ब्लॉकेज, स्टंट, ऑपरेशन, सर्जरी, बॉल्व हर तरह के इलाज के लिए दो विशेषज्ञ हैं. बच्चों, बुजुर्गों सभी के दिल का इलाज होगा.

UP Night Curfew: उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने आज से खत्म किया नाइट कर्फ्यू, गृह विभाग ने जारी किया आदेश

बता दें कि मेरठ में दिल की बीमारियों का इलाज करने वाले नामी चिकित्सक और अस्पताल हैं. वेस्ट यूपी में मेरठ कार्डियक बीमारियों के इलाज का हब है. मेरठ मंडल के सभी जिलों के अलावा सहारनपुर मंडल, बिजनौर जिलों तक के मरीज, किसान मेरठ में दिल की बीमारियों का इलाज कराने आते हैं. एम्स जैसी सुविधाएं उन्हें मेरठ में मिलती हैं. मजबूरी का फायदा उठाकर निजी अस्पतालों के चिकित्सक ग्रामीणों से स्टेंट, सर्जरी, एंजियोग्राफी, एंजियाेप्लास्टी के नाम पर मोटी फीस लेते हैं. स्टेंट की दरें सरकार ने तय कर दी मगर चिकित्सक अन्य मदों को बढ़ाकर लंबा, चौड़ा बिल बनाकर मरीजों को लूटते हैं.

Tags: AIIMS-New Delhi, Bjp government, CM Yogi, Heart attack, Heart Disease, Meerut news, UP news, World Heart Day, मेरठ

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर