मेरठ जोन के ADG की सफाई- Viral Video आगजनी, तोड़फोड़ और फायरिंग के समय का

प्रदर्शन में हिंसा के दौरान एसपी अखिलेश सिंह का एक वीडियो वायरल हो रहा है. इस वीडियो में एसपी प्रदर्शनकारियों को पाकिस्तान जाने को कह रहे हैं.
प्रदर्शन में हिंसा के दौरान एसपी अखिलेश सिंह का एक वीडियो वायरल हो रहा है. इस वीडियो में एसपी प्रदर्शनकारियों को पाकिस्तान जाने को कह रहे हैं.

मेरठ में नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के विरोध में प्रदर्शन में हिंसा के दौरान एसपी अखिलेश सिंह का एक वीडियो वायरल हो रहा है. इस वीडियो में एसपी प्रदर्शनकारियों (Protestors) को पाकिस्तान (Pakistan) जाने को कह रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 28, 2019, 1:31 PM IST
  • Share this:
मेरठ. नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और एनआरसी (NRC) के विरोध में प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा के दौरान मेरठ के एसपी सिटी (Meerut City SP) अखिलेश नारायण के वायरल वीडियो (Viral Video) को लेकर मेरठ जोन के एडीजी प्रशांत कुमार ने उनका बचाव किया है. उन्होंने इस पर सफाई देते हुए कहा कि, ‘जिस समय का यह वीडियो है, उस दौरान भारत विरोधी नारे लगाए जा रहे थे. एसपी सिटी ने तनाव के समय किसी तरह स्थिति को नियंत्रित किया. उस दौरान एसपी सिटी आगजनी, तोड़फोड़ और फायरिंग के बीच घिरे हुए थे. एसपी सिटी ने जांबाजी के साथ हालात को कंट्रोल किया.’

उस दौरान एंटी नेशनल नारे लगाए जा रहे थे- ADG

प्रशांत कुमार ने कहा कि ‘वीडियो से स्पष्ट है वहां पहले से पथराव हो चुका था, पड़ोसी देश (पाकिस्तान) के समर्थन में उस वक्त नारे लग रहे थे. उस दौरान एंटी नेशनल नारे लगाए जा रहे थे. पीएफआई के पंपलेट बांटे जा रहे थे. पुलिस पर पथराव किया जा रहा था. हो सकता है कि एसपी सिटी के शब्दों का चयन गलत हो, लेकिन पुलिस ने किसी के साथ बदसलूकी नहीं की. यही कहा कि किसी को पड़ोसी देश जाना है तो चला जाए, लेकिन पथराव न करे.’



गलत वीडियो दिखाकर पुलिस की मंशा पर शक करना उचित नहीं- ADG
एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा कि, अधिकारियों ने अपनी जान की बाजी लगाकर लोगों के जान-माल की रक्षा की. कुल 108 पुलिसकर्मी इस दौरान घायल हुए थे. हम लोगों ने पारदर्शिता के साथ कार्रवाई की. गलत वीडियो दिखाकर पुलिस की मंशा पर शक करना उचित नहीं है. ऐसा लगता है कि साजिशन ऐसा वीडियो जारी किया गया है. पुलिस के एक्शन को नीचा दिखाने की कोशिश की जा रही है. एडीजी के साथ कुछ पत्रकारों को भी टारगेट किया गया था.
20 दिसंबर के प्रदर्शन के दिन का है वीडियोदरअसल CAA के विरोध में 20 दिसंबर को जुमे की नमाज के बाद हुई हिंसा और उपद्रव से मेरठ के एसपी सिटी अखिलेश नारायण और एडीएम सिटी आग बबूला हो गए थे. इस दौरान मेरठ एसपी सिटी अखिलेश नारायण वायरल हुए वीडियो में प्रदर्शनकारियों से यह कहते दिख रहे हैं कि, 'खाते यहां का हो और विरोध भी करते हो. पाकिस्तान चले जाओ.' हालांकि यह सब सुनकर वहां मौजूद कुछ बुजुर्गों ने किसी प्रकार की कोई आपत्ति नहीं जताई.अरे, आ जा, आ जा, गली में कहां जाओगेवीडियो में मेरठ एसपी सिटी देश विरोधी नारे लगा रहे युवकों से कह रहे हैं, 'अरे, आ जा, आ जा, गली में कहां जाओगे, इस गली को मैं अच्छी तरह पहचान गया हूं. इसके बाद वो कह रहे हैं... ये जो काली पट्टी, पीली पट्टी बांध रहे हो, खाओगे यहां का, गाओगे कहीं और का. ये गली मुझे याद हो गई है और जब मुझे याद हो जाता है तो मैं...'


वायरल वीडियो पर मेरठ SP सिटी ने दी सफाई

वीडियो वायरल होने पर एसपी सिटी अखिलेश नारायण ने सफाई देते हुए कहा है कि, ‘एडीएस सिटी जब वहां पहुंचे, तो हम लोगों को देखते ही कुछ लड़कों ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते हुए गली में दौड़ लगा दी. इन लोगों का जो नेचर है और जो सूचना मिली है, उसमें तालमेल है. वो लोग बवाल करा सकते हैं. इसके बाद गली में कुछ लोग मिले, जिन्हें डांट-फटकार कर समझा दिया गया. पाकिस्तान का नारा लगाने का जो तरीका था, वह ठीक नहीं था.’

ये भी पढे़ं - 

BJP पर बरसे आदित्य ठाकरे, कहा- सत्ता में नहीं है, इसलिए शिवसेना से जलती है

CM उद्धव ठाकरे के बंगले 'वर्षा' की दीवार पर लिखे गए अपशब्द, मचा हड़कंप
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज