UP: मेरठ मेडिकल कॉलेज की बड़ी लापरवाही, वार्ड से फरार हुआ कोरोना संक्रमित

मेरठ मेडिकल कॉलेज की बड़ी लापरवाही

मेरठ मेडिकल कॉलेज की बड़ी लापरवाही

बीते 24 घंटे की बात की जाए तो यहां कोरोना (Corona) के नए केसेज में भारी कमी दर्ज की गई है. यहां बीते चौबीस घंटे के दौरान कोरोना के 394 नए केस मिले हैं.

  • Share this:

मेरठ. कोरोना की तीसरी लहर (Third Wave of Corona) के संभावित खतरे को देखते हुए जिला प्रशासन अलर्ट मोड में है. उधर, मेरठ मेडिकल कॉलेज में लगातार लापरवाही के मामले सामने आ रहे हैं. रविवार देर शाम एक और बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है. यहां कोरोना संक्रमित एक मरीज मेडिकल काॅलेज के कोविड वार्ड से फरार हो गया. संक्रमित मरीज के फरार होने के बाद से अधिकारियों में हड़कंप मच गया. फरार हुए मरीज की तलाश की जा रही है. बता दें कि मेरठ में अब तक ब्लैक फंगस से संक्रमित मरीजों को देखते हुए मेडिकल कॉलेज में कोविड और नॉन कोविड ब्लैक फंगस वार्ड बनाया गया हैं. इसके साथ ही ब्लैक फंगस को लेकर सर्विलांस तेज कर दी गई है.

इस मामले में मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य प्रोफेसर ज्ञानेंद्र कुमार ने बताया कि (60) वर्षीय सुरेंद्र दो दिन पहले जिला अस्पताल से मेडिकल कॉलेज में भर्ती हुआ था. और वो मानसिक रूप से बीमार लग रहा था. उन्होंने बताया कि उसे मेडिकल कॉलेज के आईसोलेशन वॉर्ड में रखा गया था. सीसीटीवी में मरीज के गुपचुप तरीके से निकलने की तस्वीर आने के बाद पुलिस उसकी तलाश में जुटी और आखिरकार घंटों की मशक्कत के बाद मेडिकल कॉलेज से फरार कोरोना पेशेंट मिल गया. मेरठ पुलिस के पीआरवी के जवानों ने इस मरीज़ को पकड़कर दोबारा मेडिकल कॉलेज पहुंचा दिया है.

कोरोना के मामलों में गिरावट

बीते 24 घंटे की बात की जाए तो यहां कोरोना के नए केसेज में भारी कमी दर्ज की गई है. यहां बीते चौबीस घंटे के दौरान कोरोना के 265 नए केस मिले हैं. जबकि कुल एक्टिव केसेज़ की संख्या भी घट गई है. मेरठ में कुल एक्टिव केसेज़ की संख्या 5661 हो गई है. होम आईसोलेटेड मरीज़ों की संख्या भी घटी है. अब 2871 होम आईसोलेटेड लोगों का इलाज किया जा रहा हैं. हालांकि कोरोना से बीते चौबीस घंटे के दौरान 8 और मौत हुई है. लगातार मेरठ में कोरोना को मात देने वालों की संख्या बढ़ी है. यहां अब तक 864 लोगों ने कोरोना को मात दी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज