मेरठ: Lockdown का उल्लंघन करने वाले दो फर्जी पत्रकार गिरफ्तार
Meerut News in Hindi

मेरठ: Lockdown का उल्लंघन करने वाले दो फर्जी पत्रकार गिरफ्तार
कासगंज में मास्टरमाइंड का शिक्षक भाई गिरफ्तार (प्रतीकात्मक फोटो)

जब पुलिस (Police) ने उन्हें रोककर पूछताछ की तो दोनों व्यक्तियों का किसी भी प्रेस से कोई सम्बन्ध नहीं पाया गया. दोनों व्यक्ति फर्जी आई कार्ड लगाकर लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए मीडिया और पुलिस को गुमराह कर रहे थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2020, 7:25 PM IST
  • Share this:
मेरठ. विश्वव्यापी महामारी कोरोना वायरस (Coronavirus) के कहर को खत्म करने के लिये पीएम नरेंद्र मोदी ने 3 मई तक लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा की है. ऐसा उन्होंने इसलिये किया है ताकि ये महामारी और ना फैले. लेकिन फिर कुछ लोग अपनी हरकतों से बाज नहीं रहे हैं और लॉकडाउन का उल्लंघन करने के लिये तरह-तरह के तरीके अपना रहे हैं. इसका खुलासा तब हुआ जब पुलिस ने शनिवार को लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले दो फर्जी पत्रकारों को गिरफ्तार किया.

मेरठ में कोरोना वायरस को देखते हुए किये गये लॉकडाउन में शनिवार को थाना ब्रहमपुरी क्षेत्र में अपर पुलिस महानिदेशक मेरठ जोन मेरठ एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मेरठ पुलिसकर्मियों को सैनेटाईजर व मास्क वितरित कर रहे थे. इस दौरान एक स्पलेन्डर बाईक *UP 15 AK 3096* जिस पर *TOP MEDIA 18 LIVE NEWS* का स्टीकर लगा था, पर दो व्यक्ति सवार थे. उन्होंने कथित प्रेस का आई कार्ड पहन रखा था. जब पुलिस ने उन्हें रोककर पूछताछ की तो दोनों व्यक्तियों का किसी भी प्रेस से कोई सम्बन्ध नहीं पाया गया. दोनों व्यक्ति फर्जी आई कार्ड लगाकर लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए मीडिया और पुलिस को गुमराह कर रहे थे. पुलिस ने बताया कि दोनों आरोपियों का नाम सुहेल और अहमद है. फिलहाल दोनों को ब्रह्मपुरी पुलिस के हवाले कर दिया है.

देश में 24 घंटे में कोरोना वायरस के 1334 नए केस
उल्लेखनीय है कि रविवार को केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने जानकारी दी कि 23 राज्‍यों के 54 जिलों में पिछले 14 दिनों में कोरोना वायरस संक्रमण का एक भी केस सामने नहीं आया है. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के ज्‍वाइंट सेक्रेटरी लव अग्रवाल ने जानकारी दी कि देश में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के 15,712 मामले सामने आए हैं. 24 घंटे में देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 1334 मामले सामने आए हैं. वहीं देश में अब तक 507 मौतें हुई हैं. 2231 मरीज ठीक हो चुके हैं. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से कहा गया कि 20 अप्रैल से देश के कोरोना हॉटस्‍पॉट इलाकों में ढील नहीं दी जाएगी. लॉकडाउन का इस दौरान सख्‍ती से पालन किया जाए. वैक्‍सीन और ड्रग की टेस्टिंग के संबंध में हाईलेवल टास्‍क फोर्स का गठन किया गया है.
ये भी पढ़ें: योगी सरकार का बड़ा फैसला, 20 अप्रैल से UP के इन जिलों में नहीं मिलेगी लॉकडाउन की छूट


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज