अपना शहर चुनें

States

मेरठ में फर्जी वेबसाइट बनाकर वीजा दिलाने के नाम पर ठगी, एक आरोपी गिरफ्तार

मेरठ में फर्जी वेबसाइट बनाकर वीजा दिलाने के नाम पर ठगी
मेरठ में फर्जी वेबसाइट बनाकर वीजा दिलाने के नाम पर ठगी

एएसपी (ASP) सूरज राय ने बताया कि ये गिरोह ऑनलाइन अपनी एक वेबसाइट बनाकर लोगों को वीजा (Visa) और पासपोर्ट दिलाने के नाम पर अपने खाते में पैसा डलवाता था.

  • Share this:
मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut) जिले में पुलिस ने ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है जो विदेश जाने के लिए वीजा (Visa) के नाम पर लोगों से ठगी (Fraud) करता था. पुलिस की गिरफ्त में आए इस शख्स का साथ उसकी पत्नी और कई दोस्त भी देते थे. जिनकी तलाश में पुलिस लगी हुई है. पुलिस ने इस पूरे मामले की जांच मेरठ साइबर सेल को दी, जिसके बाद ठगी के कारोबार का भंडाफोड़. मामला सामने आने के बाद एक आरोपी को पुलिस ने पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार कर लिया है.

दरअसल मेरठ के शास्त्रीनगर निवासी सागर गर्ग ने मेडिकल थाने में शिकायत दी कि उसके साथ ऑनलाइन धोखाधड़ी की गई है. वीजा दिलाने के नाम पर उससे एक्सिस बैंक के खाते में 61800 रुपए ट्रांसफर कराए गए और उसके बाद जब उन्होंने वीजा के लिए फोन करना शुरू किया तो फोन स्विच ऑफ बताने लगा. इसके बाद उन्हें शक हुआ कि उनके साथ ठगी हुई है जिसकी शिकायत उन्होंने मेरठ पुलिस से की है. पुलिस ने इस पूरे मामले की जांच मेरठ साइबर सेल को दी, जिसके बाद ठगी के कारोबार का भंडाफोड़. एक आरोपी बिश्वजीत पॉल को पुलिस ने पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार कर लिया है. बताया जा रहा है कि खुशबू नाम की महिला भी ऑनलाइन ठगी की शिकार हुई है.

ये भी पढे़ं- ओवैसी के गढ़ हैदराबाद में पहुंचे सीएम योगी का स्वागत, गूंजा...आया आया शेर आया…



एएसपी सूरज राय ने बताया कि ये गिरोह ऑनलाइन अपनी एक वेबसाइट बनाकर लोगों को वीजा और पासपोर्ट दिलाने के नाम पर अपने खाते में पैसा डलवाता था और जब पैसा खाते में आ जाता तो उसके बाद दिए गए मोबाइल नंबर को ये बंद कर देते और पैसे देने वाला व्यक्ति परेशान घूमता रहता. एएसपी के मुताबिक साइबर सेल को जानकारी मिली कि पुलिस स्टेशन हैदराबाद में भी एक मुकदमा दर्ज है. आरोपी के पास से एक मोबाइल नकदी बरामद की गई है. साथ ही खातों में मौजूद लगभग 20 हजार रुपए फ्रीज़ कराए गए हैं. पुलिस आरोपी के दो अन्य साथियों की भी तलाश में जुट गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज