UP: मात्र 3 साल की नौकरी में दारोगा ने बनाई करोड़ों की संपत्ति, पूर्व विधायक ने खोले राज तो हुआ एक्शन

वन क्षेत्र में बने आरोपी दारोगा का आलिशान मकान
वन क्षेत्र में बने आरोपी दारोगा का आलिशान मकान

मेरठ (Meerut) के पूर्व विधायक गोपाल काली ने आरोप लगाया कि मात्र 3 साल की नौकरी में हस्तिनापुर थानाप्रभारी धर्मेंद्र कुमार ने वर्तमान विधायक के संरक्षण में रहकर अकूत संपत्ति बनाई है.

  • Share this:
मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक दारोगा पिछले कुछ सालों में करोड़ों का मालिक बन गया. मेरठ से हस्तिनापुर वन सेंचुरी रेंज की जमीन पर नियम विरुद्ध जाकर उसने एक लग्जरी फार्म हाउस भी तैयार करवा लिया. आरोप ये भी है कि दारोगा के अय्याश दोस्त इस फार्म हाउस पर आकर पार्टियां करते हैं. हालांकि मेरठ पुलिस (Meerut Police) के अधिकारियों ने विभागीय जांच के चलते आरोपी को लाइन हाजिर कर दिया है. लेकिन कहानी इतने पर ही नहीं रुकती, भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे दारोगा पर बिजली चोरी का भी आरोप है. बिजली विभाग ने आरोपी दारोगा के घर पर छापा मार तो पता चला कि बिना मीटर के ही बिजली का इस्तेमाल हो रहा था.

मेरठ के हस्तिनापुर थाने में पिछले करीब 2 साल से धर्मेंद्र कुमार थाना प्रभारी के पद पर तैनात थे. इन दो सालों में तमाम आरोप लगे लेकिन इस थानेदार का कभी कुछ नहीं बिगाड़ा. बड़े-बड़े अधिकारी जांच तो करते रहे लेकिन कभी भी दारोगा को पद से हिला नहीं पाए. लेकिन अब योगी सरकार में विभागीय जांच के चलते आरोपी दारोगा धर्मेंद्र कुमार को लाइन हाजिर कर दिया गया है. वहीं उसी दिन में मेरठ स्थित उनके आवास पर बिजली विभाग का छापा भी पड़ा. छापेमारी के दौरान जिस घर में दारोगा का परिवार रहता है उसमें मीटर नहीं होने का खुलासा हुआ. यानी बिना मीटर के पिछले कई साल से बिजली जलाई जा रही थी. और विभाग को लाखों का चूना लगाया जा रहा था.

पूर्व विधायक गोपाल काली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर हस्तिनापुर विधायक दिनेश खटीक और दारोगा धर्मेंद्र कुमार के गठजोड़ को लेकर कई आरोप लगाये. गोपाल काली की माने तो पिछले साढ़े कीन साल में थाना हस्तिनापुर, थाना मवाना और थाना परीक्षितगढ़ में ही धर्मेंद्र कुमार ने नौकरी की है. इस दौरान विधायक के संरक्षण में रहकर उसने अकूत संपत्ति बनाई.



मेरठ के हस्तिनापुर क्षेत्र की वन सेंचुरी में आलीशान मकान है. बताया जा रहा है कि इस जमीन का बैनामा दारोगा की पत्नी के नाम पर है. वन सेंचुरी रेंज में इस बेशकीमती जमीन पर नियम विरुद्ध आलीशान रिसोर्ट तैयार किया गया.
गोपाल काली का आरोप है कि इस फार्म हाउस में थाने के ही दो सिपाही दिन-रात ड्यूटी देते हैं और दरोगा के दोस्तों की महफिल रात को यहां सजती है, जो यहा अय्याशी करने आते हैं.

इन तमाम आरोपों और जांचों के चलते मेरठ पुलिस ने इस मामले में आरोपी दारोगा पर एक्शन लिया. एसएसपी अजय साहनी ने एसओ हस्तिनापुर पद पर तैनात धर्मेंद्र कुमार को लाइन हाजिर कर दिया. जिसके बाद इन तमाम मामलों में उसकी जांच भी शुरू कर दी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज