Assembly Banner 2021

Meerut News: महापंचायत में गरजे केजरीवाल, कहा- हमारा किसान देशद्रोही नहीं हो सकता, कृषि कानून डेथ वारंट

हमारा किसान देशद्रोही नहीं हो सकता, कृषि कानून डेथ वारंट (फाइल फोटो)

हमारा किसान देशद्रोही नहीं हो सकता, कृषि कानून डेथ वारंट (फाइल फोटो)

योगी सरकार (Yogi Government) पर निशाना साधते हुए केजरीवाल ने कहा,' सीएम योगी कि ऐसी क्या कमजोरी है कि ये चीनी मिल मालिकों को ठीक नहीं कर सकते. अच्‍छी नीयत की सरकार लाएंगे, तभी बात बनेगी.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2021, 4:06 PM IST
  • Share this:
मेरठ. कृषि कानून के विरोध में आम आदमी पार्टी (AAP) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) रविवार को किसान महापंचायत को संबोधित करने पहुंचे. किसानों को संबोधित करते हुए उन्‍होंने कहा कि हमारा किसान देशद्रोही नहीं हो सकता और किसानों के लिए कृषि कानून डेथ वारंट के समान है. केजरीवाल ने अपने संबोधन के दौरान कहा, 'आज अपने देश का किसान बहुत ज्यादा पीड़ा में है. किसान भाई परिवार समेत 95 दिनों से कड़कती ठंड में दिल्ली के बॉर्डर पर धरने पर बैठा है. 250 से ज्यादा किसान भाइयों की शहादत हो चुकी है, लेकिन सरकार के कान पर जूं नहीं रेंग रही है. उन्होंने कहा कि सभी पार्टी की सरकारों ने 70 सालों किसानों को धोखा दिया है.

बीजेपी पर निशाना साधते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि भाजपा ने 2014 के घोषणापत्र में कहा था कि हम स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करेंगे. किसानों ने इन्हें जमकर वोट दिया. 3 साल बाद भाजपा ने सुप्रीम कोर्ट के एफिडेविट में लिखा कि वो एमएसपी (MSP) नहीं देंगे. इन्होंने किसानों की पीठ में छुरा मार दिया. केजरीवाल ने कहा कि सरकार के पास पैसे की कमी नहीं है नीयत की कमी है. अच्छी नीयत वाली सरकार होगी तो किसान ट्रैक्टर लेकर मिल में जाएंगे और उनके घर पहुंचते ही गन्ने का भुगतान हो जाएगा.

योगी सरकार पर साधा निशाना
योगी सरकार पर निशाना साधते हुए केजरीवाल ने कहा कि यूपी सराकर की ऐसी क्या कमजोरी है कि ये मिल मालिकों को ठीक नहीं कर सकते. जब मैं दिल्ली में सत्ता में आया तो पांच साल बाद बिजली कंपनियों को ठीक कर दिया. पहले दिल्ली में 20-20 हजार बिल आते थे आज दिल्ली में मुफ्त और 24 घंटे बिजली मिलती है. उन्होंने कहा कि योगी सरकार अगर किसानों को उनकी फसल के पैसे नहीं दिला सकती तो लानत है. दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी पार्टी की सरकारों ने 70 सालों किसानों को धोखा दिया है. किसान 70 साल से अपनी फसल का सही दाम मांग रहा है. सभी के चुनावी घोषणापत्र में लिखा होगा कि हमें जीता दो हम सही दाम दे देंगे, लेकिन अगर सही दाम दे देते तो किसान आत्महत्या नहीं करता.
इसके अलावा उन्‍होंने कहा कि नीयत अच्‍छी होगी तो गैस पेट्रोल के दाम कम हो जाएंगे और जो भारत से प्यार करता है वो इस आंदोलन के खिलाफ नहीं हो सकता. वहीं, मेरा फर्ज बनता है कि आपका बेटा आंदोलन में शामिल है. आप सभी से अपील है कि अच्छी नीयत की सरकार लाओ, तभी बात बनेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज