CO जब अम्मा को बोले- वैक्सीन लगवाओ, आपको कुछ हुआ तो हमारी नौकरी जाएगी

अम्मा को वैक्सीनेशन के लिए समझाते दोनों अधिकारी.

अम्मा को वैक्सीनेशन के लिए समझाते दोनों अधिकारी.

Meerut में अधिकारी घर-घर जाकर लोगों को समझा रहे हैं और वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित कर रहे हैं. इस दौरान कुछ अनोखे वाक्ये भी सामने आ रहे हैं.

  • Share this:

मेरठ. इन दिनों देशभर में कोरोना (Corona) वैक्सीनेशन को लेकर अभियान चल रहा है. ऐसा ही मेरठ में भी है और यहां पर लोगों को वैक्सीन लगवाने को लेकर लगातार अधिकारी समझाइश भी कर रहे हैं. ऐसी ही समझाइश का एक रोचक नजारा गुरुवार को देखने को मिला जब सीओ कोतवाली अरविंद चौरसिया और सिटी मजिस्ट्रेट सत्येंद्र सिंह उन इलाकों के दौरे पर निकले जहां पर वैक्सीनेशन का प्रतिशत संतोषजनक नहीं है. दोनों ही अधिकारी माइक पर लोगों से टीका लगवाने की गुजारिश करते नजर आए. इस दौरान एक दादी अम्मा भी मिलीं जो टिका लगवाने को तैयार नहीं थीं. ऐसे में सीओ अरविंद चौरसिया ने उन्हें समझाने के लिए अपनी नौकरी तक का हवाला दे दिया.

सीओ चौरसिया ने अम्मा को कहा कि आप बेफिक्र होकर वैक्सीन लगवाइये, कुछ नहीं होगा. उन्होंने कहा कि हम अधिकारी हैं और इसके लिए ‌जिम्मेदार हैं. यदि आपको कुछ हुआ तो हमारी नौकरी चली जाएगी. वहीं सिटी मजिस्ट्रेट सिंह ने अम्मा को कहा कि हम आपका नुकसान चाहेंगे क्या.

टैंपो में निकले दोनों अधिकारी

सीओ और सिटी मजिस्ट्रेट दोनों ही लोगों को जागरुक करने के लिए अपने वाहनों को छोड़ कर टैंपो में बैठ कर शहर में निकले. इस दौरान दोनों माईक पर लोगों से मदरसे में जाकर टीका लगवाने का एनाउंसमेंट करते नजर आए. सीओ चौरसिया ने बताया कि लिसाड़ी गेट क्षेत्र को लेकर सूचना मिली थी कि यहां पर लोग टीका लगवाने में कतरा रहे हैं. ऐसे में घर घर जाकर लोगों को समझाया गया है.

लोगों को समझाने के लिए मेरठ में टैंपो में बैठकर निकले अधिकारी.

डॉक्टरों से भी बात करवाई

सीओ ने बताया कि गुरुवार को करीब 100 लोगों को टीका लगाया गया. इस दौरान जो लोग शुगर से पीड़ित थे और टीका लगवाने में कतरा रहे थे उनकी डॉक्टरों से बात करवाई गई और टीकाकरण किया गया.



सीरो सर्वे भी शुरू

मेरठ में अब सीरो सर्वे ने भी गति पकड़ ली है. जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. अशोक तालियान ने बताया कि एंटी बॉडीज की जांच को लेकर सीरो सर्वे शुरू किया गया है. चिन्हित क्षेत्रों में अभी ये सर्वे किया गया है. इसके लिए 16 टीमें काम कर रही हैं. 11 जून तक ये कार्य किया जाएगा. उन्होंने बताया कि पहले ही दिन 485 सैंपल जमा किए गए हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज