अपना शहर चुनें

States

मेरठः कोरोना वॉरियर डॉ. आशीष की मौत पर उठे सवाल, COVID-19 टेस्ट के लिए भेजा गया सैंपल

डॉ. आशीष कोरोना योद्धा के तौर पर क्‍वारेंटीन सेंटर में ड्यूटी कर रहे थे.
डॉ. आशीष कोरोना योद्धा के तौर पर क्‍वारेंटीन सेंटर में ड्यूटी कर रहे थे.

COVID-19 ड्यूटी से वापस आते समय डॉ. आशीष (Dr. Ashish) रास्‍ते में बेहोश होकर सड़क पर गिर पड़े थे. सुबह में घर में मृत पाए जाने से स्वास्थ्य महकमे मचा हड़कंप.

  • Share this:
मेरठ. कोरोना (COVID-19) योद्धा के तौर पर काम कर रहे डॉ. आशीष की अप्रत्‍याशित मौत ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं. सबसे बड़ा सवाल तो यही है कि डॉ. आशीष की मौत की वजह कहीं कोरोना वायरस का संक्रमण तो नहीं है. इस सवाल का जवाब तलाशने के लिए उनका सैंपल कोविड-19 टेस्‍ट के लिए भेज दिया गया है. वहीं उनके शव को फिलहाल मॉर्चरी में रख दिया गया है. कोविड-19 टेस्‍ट की रिपोर्ट आने के बाद ही डॉ. आशीष का शव परिजनों को सौंपा जाएगा.

उल्‍लेखनीय है कि डॉ. आशीष क्वारंटाइन ड्यूटी के बाद स्कूटी से घर लौट रहे थे. अचानक रास्‍ते में वह बेहोश होकर स्‍कूटी से नीचे गिर गए. गनीमत रही कि डॉ. आशीष के मित्र और सहकर्मी डॉ. सतीश अपनी कार से उनके पीछे-पीछे आ रहे थे. वे तत्‍काल डॉ. आशीष को अपनी कार से लेकर मवाना पहुंचे, जहां प्राथमिक उपचार के बाद डॉ. आशीष ठीक हो गए. थोड़ी देर इंतजार करने के बाद डॉ. आशीष अपने घर के लिए निकल जाते हैं.

दरवाजा तोड़कर निकाला गया शव



बताया जा रहा है कि घर पहुंचने के बाद डॉ. आशीष अपने कमरे में सोने चले गए. दूसरे दिन सुबह काफी देर तक जब वह अपने कमरे से नहीं निकले, तब परिजनों ने आवाज लगाई. आशीष के कमरे के दरवाजे पर दस्‍तक दी. तमाम कोशिशों के बावजूद जब अंदर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई, तो कमरे का दरवाजा तोड़ा गया. कमरे में डॉ. आशीष मृत अवस्‍था में पड़े थे. डॉ. आशीष की मौत की खबर मिलते ही पूरे स्‍वास्‍थ्‍य विभाग में हड़कंप मच गया है.
COVID-19 टेस्‍ट का है सभी को इंतजार

डॉ. आशीष की मौत के बाद उनका सैंपल COVID-19 जांच के लिए भेजा गया है. वहीं शव को मॉर्चरी में रखवा दिया गया है. कोरोना जांच के बाद ही डॉक्टर का शव उनके परिजनों को सौंपा जाएगा. शव का पोस्टमॉर्टम भी कराया जा रहा है. एसपी देहात अविनाश कुमार पाण्डेय ने बताया कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता चल सकेगा.

यह भी पढ़ें: 

लखनऊ Lockdown: कार में सवार थीं 3 महिलाएं, पुलिस ने रोका तो भड़कीं

'यूपी में 62 प्रतिशत किसानों के घर पहुंची सरकार, 30 लाख कुंतल गेहूं की खरीद'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज