होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /UP: मेरठ में प्रीपेड मीटर से छोटे व्यापारियों को मिलेगी बड़ी राहत, जानें बिजली विभाग का नया प्लान?

UP: मेरठ में प्रीपेड मीटर से छोटे व्यापारियों को मिलेगी बड़ी राहत, जानें बिजली विभाग का नया प्लान?

Meerut News: दरअसल, अभी तक देखा जाता था कि अगर सामान्य बिजली कनेक्शन लेने के लिए विभिन्न प्रकार के दस्तावेज लगाने होते ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- विशाल भटनागर

 मेरठ: पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड छोटे व्यापारियों के लिए राहत का कनेक्शन देने जा रहा है. दरअसल संबंधित क्षेत्र में अगर कोई उपभोक्ता अपना खुद का ढाबा, जूस की दुकान या फिर अन्य कोई भी छोटा कार्य शुरू करना चाहता है. तो उसके लिए उसे बिजली कनेक्शन करवाने के लिए विभाग के चक्कर काटकर निराश नहीं होना पड़ेगा. बल्कि आसानी से ही बिजली विभाग के झटपट पोर्टल https://upenergy.in/uppcl/en पर आवेदन कर उसको कनेक्शन मिल जाएगा.

दरअसल, अभी तक देखा जाता था कि अगर सामान्य बिजली कनेक्शन लेने के लिए विभिन्न प्रकार के दस्तावेज लगाने होते थे. उसमें भी अगर मानक के अनुरूप नहीं होते थे. तो विभाग द्वारा ऐसे व्यापारियों को कनेक्शन नहीं दिया जाता था. जिससे उन्हें अनेकों दिक्कतों का सामना करना पड़ता था. लेकिन अब बिजली विभाग द्वारा प्रीपेड कनेक्शन ऐसे ही उपभोक्ताओं को आसानी से उपलब्ध कराने के लिए शुरू कर दिए गए हैं. ताकि ऐसे सभी उपभोक्ता अपना रोजगार आगे बढ़ा सके.

जानिए टेंपरेरी कनेक्शन के नियम
अभी तक बिजली विभाग के द्वारा उपभोक्ताओं के प्रीपेड बिजली कनेक्शन नहीं दिए जाते थे. ऐसे में घर बनाने वाले व्यक्ति को जनरेटर चलाकर बिल्डिंग में जो भी इलेक्ट्रिक कार्य होता था. उसको पूरा करना पड़ता था. लेकिन अब ऐसे बिल्डिंग बनाने वाले उपभोक्ताओं को विद्युत विभाग द्वारा प्रीपेड कनेक्शन उपलब्ध कराया जा रहा है. मेरठ शहर और ग्रामीण में अबतक कुल 1900 प्रीपेड कनेक्शन दिए जा चुके हैं. इनमें 300 ऐसे कनेक्शन हैं, जो कि घर का बिल्डिंग निर्माण के लिए टेंपरेरी रूप से दिए गए हैं.

आपके शहर से (मेरठ)

प्रीपेड कनेक्शन का चार्ज काफी महंगा
बिजली विभाग द्वारा उपभोक्ताओं को बिजली के प्रीपेड कनेक्शन तो दिए जा रहे हैं. लेकिन इसमें लगने वाले मीटर का चार्ज काफी महंगा है. जहां अन्य मीटर लगवाने में फिक्स चार्ज में 900 से 1500 के बीच जाता है.

वहीं प्रीपेड कनेक्शन लगवाने के लिए 6500 रुपए उपभोक्ता को चार्ज देना पड़ता है.

Tags: Electricity Bills, Electricity Department, Meerut news, Power Crisis, UP news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें