मेरठ : पोटाश-गंधक कूटते वक्त धमाका, एक बच्चे का हाथ कटकर गिरा, दो अन्य का चेहरा झुलसा

हादसे में जख्मी बच्चों को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.
हादसे में जख्मी बच्चों को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

पुलिस का कहना है कि हादसा गंधक-पोटाश पीसने के दौरान हुआ, जबकि घायलों के परिजनों का कहना है कि पटाखा फोड़ते वक्त हादसा हुआ. धमाके की चपेट में आने से तीन बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 13, 2020, 9:45 PM IST
  • Share this:
मेरठ. मेरठ में इंचौली थाना क्षेत्र के खरदौनी गांव में पटाखा बनाते वक्त हुए धमाके में तीन बच्चे बुरी तरह जख्मी हुए हैं. ये बच्चे पोटाश और गंधक को इमामदस्ते में कूट रहे थे. दरअसल, दीपावली में पटाखे न मिलने से ये बच्चे बाजार से पोटाश और गंधक लाकर घर में कूट रहे थे. इसी दौरान तेज धमाका हुआ. धमाका इतना जोरदार था कि एक बच्चे का हाथ कटकर नीचे गिर गया. वहीं दो अन्य बच्चे भी गंभीर घायल हुए हैं.

घायल बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पुलिस का कहना है कि हादसा गंधक-पोटाश  पीसने के दौरान हुआ, जबकि घायलों के परिजनों का कहना है कि पटाखा फोड़ते वक्त हादसा हुआ. धमाके की चपेट में आने से तीन बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गए. आनन-फानन में तीनों को मेरठ के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

इंचौली थानाक्षेत्र के खरदौनी गांव के रहने वाला सतीश मजदूरी कर अपने परिवार का पालन-पोषण करता है. सतीश की पत्नी चिकित्सक के यहां दवा लेने गई थी, जबकि सतीश काम से नहीं लौटा था. बताया जाता है कि इसी दौरान एक बेटा बाजार से लाई गई गंधक और पोटाश को पीसने लगा. गंधक-पोटाश पीसने के दौरान अचानक विस्फोट हो गया. इस धमाके से एक किशोर का हाथ कटकर गिर गया और एक आंख क्षतिग्रस्त हो गई. वहीं दो अन्य बच्चों का का चेहरा भी बुरी तरह झुलस गया. जानकारी मिलने पर माता-पिता और पड़ोसी घर की ओर दौड़ पड़े. आनन-फानन में घायल दोनों बच्चों को मेरठ के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया. हालांकि बच्चों के परिजनों का कहना है कि बच्चे सुतली बम लाए थे और उसको फोड़ने के दौरान यह हादसा हुआ.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज