लाइव टीवी

मेरठ नगर निगम की पहल, कोरोना के खिलाफ चौक-चौराहों पर लिखे गए स्लोगन
Meerut News in Hindi

Umesh Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: March 25, 2020, 8:20 PM IST
मेरठ नगर निगम की पहल, कोरोना के खिलाफ चौक-चौराहों पर लिखे गए स्लोगन
मेरठ में जनजागरुकता के लिए स्लोगन्स लिखे गए हैं.

पूरे देश में कोरोना का खतरा बढ़ते खतरे के बीच मेरठ नगर निगम के कर्मचारियों की एक पहल आपको जरूर आकर्षित करेगी. मेरठ नगर निगम के अधीन आने वाले इलाकों में कर्मचारियों ने लोगों को इससे बचाव के लिए जागरुकता का प्रयास शुरू किया है. य

  • Share this:
मेरठ. पूरे देश में कोरोना का खतरा बढ़ता जा रहा है. इन सब के बीच मेरठ नगर निगम के कर्मचारियों की एक पहल आपको जरूर आकर्षित करेगी. मेरठ नगर निगम के अधीन आने वाले इलाकों में कर्मचारियों ने लोगों को इससे बचाव के लिए जागरुकता का प्रयास शुरू किया है. यह अनूठा प्रयास शहर के बीच चौक और चौराहों के पास देखा जा सकता है. दरअसल, कोरोना वायरस से बचाव के लिए जागरुकता अभियान के तहत यहां स्लोगन्स लिखे गए हैं. ये मेरठ नगर निगम की पहल, कोरोना के खिलाफ चौक-चौराहों पर लिखे गए स्लोगन भी अलग-अलग तरह के हैं. इनमें कहीं लिखा है, 'कोरोना को भगाना है' तो कहीं लिखा 'स्टॉप कोरोना'. बड़े बड़े अक्षरों में लिखे इन स्लोगन को देख कर लोग इसकी प्रशंसा कर रहे हैं.

मेरठ पुलिस कर रही समझाइश, नहीं तो...
उधर, मेरठ पुलिस की गाड़ियां भी घूमकर लोगों को जागरुक कर रही हैं. मेरठ पुलिस आम लोगों से घरों के अंदर ही रहने की अपील कर रही है. यही नहीं जो लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं उन्हें भी मास्क लगाने के लिए भी कहा जा रहा है. इसके साथ पुलिस और आरआरएफ के जवान उन लोगों से सख्ती से भी निपट रहे हैं, जो प्रशासन की बात समझने को तैयार नहीं हैं.

नागरिक प्रशासन भी दे रहा साथ



इस मुहिम में नागरिक प्रशासन (सिविल डिफेंस) के लोग भी पुलिस कर्मियों का साथ दे रहे हैं. साथ ही लोगों को जागरुक करने का काम कर रहे हैं. कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए शहर के डॉक्टर, नर्स, पुलिस, नगर निगम की टीम के साथ सिविल डिफेंस एक साथ काम कर रही है.

यूपी में कोरोना वायरस आपदा घोषित
गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस को आपदा घोषित कर दिया है. यूपी सरकार ने इस संबंध में मंगलवार को अधिसूचना जारी कर दी है. अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार द्वारा यह अधिसूचना जारी की गई है. इसमें कहा गया है कि भारत सरकार के आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 की धारा-2 की उप धारा (डी) और उत्तर प्रदेश आपदा प्रबंध अधिनियम-2005 की धारा-2 की उप धारा (जी) में किए गए प्रावधान के क्रम में कोरोना वायरस (COVID-19) के कारण फैल रही महामारी को आपदा घोषित किए जाने की राज्यपाल ने स्वीकृति दे दी है.

आपात सामग्री की खरीद के संबंध में मिली है छूट
अधिसूचना के अनुसार इस दौरान आपात सामग्री की खरीद के संबंध में छूट दी जा रही है, लेकिन यह सिर्फ एक महीने के लिए होगी. यह छूट उन्हीं वस्तुओं की खरीद के लिए सरकार ने दी है, जो चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग और चिकित्सा शिक्षा विभाग के नॉर्म्स में कोरोना वायरस के उपचार और रोकथाम के लिए आवश्यक हैं.

ये भी पढ़ें:

UP में गुटखा, पान मसाला किया गया बैन, सीएम योगी के निर्देश पर सरकार का फैसला

प्रयागराज: लॉकडाउन के दौरान कालाबाजारी के आरोप में दुकानदार गिरफ्तार

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेरठ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 5:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर