लाइव टीवी

मेरठ: त्योहार के पहले बजट की कमी से जंग खा रही है 'फूड सेफ्टी ऑन व्हील्स'
Meerut News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 22, 2020, 8:17 PM IST
मेरठ: त्योहार के पहले बजट की कमी से जंग खा रही है 'फूड सेफ्टी ऑन व्हील्स'
Food safety on wheels को राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार धर्मसिंह सैनी ने किया था रवाना (फ़ाइल तस्वीर)

एफएसएसएआई (FSSAI) ने लोगों को खाद्य पदार्थों में मिलावट और उसकी जांच के तरीकों के बारे में जागरुक करने के लिए प्रदेश के कई शहरों में फूड सेफ्टी ऑन व्हील्स (Food Safety on Wheels) को रवाना किया था.

  • Share this:
मेरठ. होली के त्यौहार के पहले खाद्य विभाग का अमला अमूमन मिलावटखोरों की धरपकड़ में लग जाता है लेकिन वर्तमान में खाद्य और औषधि प्रशासन (Food & Drug Administration) की छापेमारी की कार्रवाई तो दूर लोगों को जागरुक करने के लिए कुछ महीने पहले मेरठ (Meerut) मण्डल को मिली फूड सेफ्टी ऑन व्हील्स (Food Safety on Wheels) भी दफ्तर में खड़े खड़े धूल खा रही है. इस गाड़ी का उद्घाटन राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार धर्म सिंह सैनी ने नवंबर में हरी झंडी दिखाकर बड़े जोर-शोर से किया था लेकिन आज की तारीख में ये गाड़ी बजट के अभाव में विभाग के बाहर ही धूल फांकती हुई ही नजर आती है.

मिलावट की जांच को लेकर आई गाड़ी फांक रही है धूल
दरअसल पिछले साल एफएसएसएआई (FSSAI) ने लोगों को खाद्य पदार्थों में मिलावट और उसकी जांच के तरीकों के बारे में जागरुक करने के लिए प्रदेश के कई शहरों में फूड सेफ्टी ऑन व्हील्स (Food Safety on Wheels) को रवाना किया था. मेरठ में बीती 16 नवंबर को राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार धर्म सिंह सैनी (State Minister Dharma Singh Saini) ने इस गाड़ी को रवाना करते हुए कहा था कि ये गाड़ी अब गांव गांव जाएगी और लोगों को जागरुक करेगी. मंत्री जी ने कहा था कि ये गाड़ी लोगों को बकायदा खाद्य पदार्थों का टेस्ट (Test) करके बताएगी कि मिलावट की जांच कैसे की जा सकती है. लेकिन चार महीने बाद अब ये गाड़ी गांव गांव तो क्या, खाद्य और औषधि प्रशासन ऑफिस के बाहर ही यदा कदा निकल पाती है.

इस संबंध में जब जिम्मेदारों से पूछा गया तो कोई फंड की कमी बताते हुए अपना पल्ला झाड़ते नजर आया तो कोई बोर्ड परीक्षा में लगी ड्यूटी का हवाला देते दिखा. मिलावट का कारोबार वेस्ट यूपी में कितना बड़ा है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि दीपावली के आसापास जितने भी सैंपल टेस्ट के लिए भेजे गए थे वो ज्यादातर या तो मिलावटी पाए गए या जहरीले. बावजूद इसके विभाग की ऐसी लापरवाही समझ से परे है.



ये भी पढ़ें -ट्रंप का भारत दौरा: डेलिगेशन के साथ आ रही बस्ती के इस गांव की बेटी का है लोगों को इंतजार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेरठ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 22, 2020, 7:22 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading