ये हैं मेरठ के Golden Boy सौरभ चौधरी, महज 18 वर्ष की उम्र में अर्जुन पुरस्कार के लिए नामित
Others News in Hindi

ये हैं मेरठ के Golden Boy सौरभ चौधरी, महज 18 वर्ष की उम्र में अर्जुन पुरस्कार के लिए नामित
मेरठ के सौरभ चौधरी काे अर्जुन पुरस्कार के लिए नामित किया गया है.

मेरठ (Meerut) के शूटिंग चैंपियन सौरभ चौधरी को इस बार अर्जुन पुरस्कार के लिए नामित किया गया है. अगर उन्हें पुरस्कार मिलता है तो वह सबसे कम उम्र में अर्जुन पुरस्कार जीतने वाले खिलाड़ी बन जाएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 20, 2020, 6:17 PM IST
  • Share this:
मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut) में कलीना गांव के रहने वाले सौरभ चौधरी (Saurabh Chaudhary) 10 मीटर एअर पिस्टल स्पर्धा में अर्जुन अवार्ड (Arjun Award) के लिए नामित किए गए हैं. सौरभ ने 2018 में मात्र 16 वर्ष की आयु में एशियाई खेल में निशानेबाज़ी की 10 मीटर एअर पिस्टल स्पर्धा में गोल्ड जीता था. इसके बाद सौरभ ने गोल्ड की झड़ी लगा दी. मेऱठ में उन्हें गोल्डन बॉय (Golden Boy) की संज्ञा दी जाती है. कभी 12 किलोमीटर पैदल चलकर शूटिंग रेंज जाने वाले सौरभ चौधरी आज देश के सबसे कम उम्र के अर्जुन पुरस्कार विजेता बनने की राह पर हैं.

आईएसएसएफ विश्व कप, वर्ल्ड चैंपियनशिप, युवा ओलम्पिक और एशियाई खेलों में सौरभ ने 10 से ज्यादा स्वर्ण पदक जीतकर इतनी कम आयु में तहलका मचा दिया है. गोल्डन बॉय सौरभ चौधरी के निशाने पर अब टोक्यो ओलम्पिक है. जो कोरोना के चलते स्थगित हो गया है. सौरभ ने आईएसएसएफ चैपियनशिप में नया विश्व रिकॉर्ड स्थापित किया है.

गांव वाले कहते हैं सोने का तमगा वाला लाल



मेरठ के सरुरपुर ब्लॉक के एक छोटे से गांव में कलीना में जन्मे सौरभ चौधरी पर सभी को नाज़ है. गांव के लोग अपने लाल को सोने का तमगा वाला लाल कहते हैं. पूरा कलीना गांव अपने लाल की कामयाबी से ख़ुशी से झूम रहा है. किसान पिता और माता को तो मानों सारा जहां मिल गया हो.
रोज कई किलोमीटर जाता था शूटिंग करने: मां

सौरभ चौधरी की मां बताती हैं कि उनका लाल रोज़ाना कई किलोमीटर की पैदल यात्रा करके, कभी ट्रक तो कभी बुग्गी पर सवार होकर शूटिंग की प्रैक्टिस पर जाया करता था. बागपत के शूटिंग रेंज में सौरभ चौधरी प्रैक्टिस किया करते थे. वहीं किसान पिता अपने लाडले की इस उपलब्धि पर ख़ुशी से फूले नही समा रहे हैं. सौरभ ने कितने पदक जीते हैं? इसका अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सौरभ का एक पूरा कमरा मेडल से भरा हुआ है. घर के लोग इसे मेडल वाला कमरा कहते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज