Home /News /uttar-pradesh /

gyanvapi case senior sangh pracharak indresh said the world wants to know the truth nodss

ज्ञानवापी मामलाः वरिष्ठ संघ प्रचारक इंद्रेश बोले- दुनिया जानना चाहती है सच, सामने आना ही चाहिए

संघ प्रचारक ने कहा कि ज्ञानवापी का सच सभी के सामने आना चाहिए.

संघ प्रचारक ने कहा कि ज्ञानवापी का सच सभी के सामने आना चाहिए.

इंद्रेश कुमार ने कहा- स्वामी विवेकानंद स्वामी रामतीर्थ भी दुनिया के देशों में गए. गुरुनानक देव भी गए. लाला हर दयाल भी गए. श्यामजी कृष्ण वर्मा अम्बेड़कर भी गए. सरदार उधम सिंह मदन लाल ढींगरा भी गए इऩमें में किसी ने पूजास्थल नहीं तोड़े वहां सारा वेलफेयर किया.

अधिक पढ़ें ...

मेरठ. जिले में सोमवार को वरिष्ठ संघ प्रचारक इंद्रेश कुमार ने ज्ञानवापी जैसे मामलों पर मुखर होकर अपनी बात रखी. उन्होंने कहा कि ऐसे स्थानों का सच क्या है ये भारत ही नहीं विश्व जानना चाहता है. उन्होंने कहा कि जो भी ऐसे संस्थान है उनका सत्य क्या है सामने आना चाहिए. देश के हर नागरिक को सत्य जानने का अधिकार है. क्योंकि इऩ सभी स्थानों का सच क्या है ये भारत ही नहीं विश्व जानना चाहता है. उन्होंने कहा कि कोर्ट अपनी कार्रवाई करेगा.

वरिष्ठ संघ प्रचारक ने कहा कि आऩे वाले कल में जितने भी विवाद हैं. एक बेसिक फाउंडेशन बनाया जाना आवश्यक है. साथ ही सभी को इसमें कॉपरेट करना चाहिए. इसको बताते या करते समय कट्टरता की जरुरत नहीं है. न ही वैमनस्य या क्रोध की जरुरत है. उन्होंने कहा कि दुनिया में जो भी ऐसे स्थान हो सकते हैं उन सभी का सच सामने आना चाहिए. क्योंकि समय आ गया है कि नेशन एंड वर्ल्ड सत्य को जाने. उन्होंने कहा कि हर चीज की प्रतीक्षा करनी चाहिए. एक पुस्तक का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि भारत की संस्कृति ग़लत को गलत कहती है. आक्रांता को आक्रांता कहती है. औरंगजेब, गजनी, बाबर, गौरी विदेशी आक्रांता थे ये कहने में क्या संकोच है. जब भारत में रावण हिरणाकश्यक कंस को शैतान कहता है. तो आक्रांता को आक्रांता क्यों नहीं.

इंद्रेश कुमार ने कहा कि स्वामी विवेकानंद स्वामी रामतीर्थ भी दुनिया के देशों में गए. गुरुनानक देव भी गए. लाला हर दयाल भी गए. श्यामजी कृष्ण वर्मा अम्बेड़कर भी गए. सरदार उधम सिंह मदन लाल ढींगरा भी गए इऩमें में किसी ने पूजास्थल नहीं तोड़े वहां सारा वेलफेयर किया. तब प्रश्न खड़ा होता है कि इनमें से किसी भी देश ने अपना इतिहासपुरुष राष्ट्रपुरुष मानकर डेवलेपमेंट क्यों नहीं किया.

अगर आक्रांता को कहते हैं कि हिस्ट्री बनाओ सज्जनों को हिस्ट्री क्यों नहीं बनाते हैं तो क्या ये जगत के अंदर अन्याय नहीं है. इस पर भी सभी को विचार करना चाहिए. वरिष्ठ संघ प्रचारक इंद्रेश कुमार ने कहा कि हमसे चाहते हैं जो आक्रांता है इन्हें अपना मानों लेकिन हमारे महापुरुषों को दुनिया में स्थान क्यों नहीं. इंद्रेश कुमार ने कहा कि To know the root to know the truth आवश्यक है. इंद्रेश कुमार जनसंख्या समाधान फाउंडेशन के राष्ट्रीय अधिवेशन में शिरकत करने मेरठ पहुंचे थे. उन्होंने कहा कि जनसंख्या नियंत्रण और संतुलन को लेकर सारा विश्व चिंतित है.

Tags: Gyanvapi Masjid, Meerut news, UP news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर