लाइव टीवी

निर्भया के दोषियों को फांसी देने फिर तिहाड़ पहुंचा मेरठ का पवन जल्लाद, अपने दादा के रिकॉर्ड को तोड़ने को है बेताब
Meerut News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: March 19, 2020, 1:24 PM IST
निर्भया के दोषियों को फांसी देने फिर तिहाड़ पहुंचा मेरठ का पवन जल्लाद, अपने दादा के रिकॉर्ड को तोड़ने को है बेताब
निर्भया गैंगरेप के दोषियों को कल फांसी पर लटकाएगा पवन जल्लाद (प्रतीकात्मक फोटो)

पवन जल्लाद (Pawan Jallad) के रहने की व्यवस्था तिहाड़ (Tihar Jail) में ही की गई है. यहां पवन दोषियों को फांसी देने का अभ्यास फिर से कर रहा है. तिहाड़ जेल प्रशासन बक्सर से मंगाई गई रस्सी से पवन जल्लाद को फांसी का अभ्यास करा रहा है, कल यानि 20 मार्च को दोषियों को मिलेगा मृत्युदंड (capital punishment)....

  • Share this:
मेरठ. निर्भया (Nirbhaya case) के दोषियों को फांसी देने के लिए एक बार फिर मेरठ का पवन जल्लाद (Pawan Jallad) मेरठ से रवाना होकर तिहाड़ जेल पहुंच चुका है. पवन फिर से तिहाड़ जेल में दोषियों के वजन के बराबर पुतले को फांसी पर लटकाने का अभ्यास भी शुरू कर चुका है. पूरे देशवासियों की तरह उसे भी उम्मीद है कि निर्भया के दोषियों को 20 मार्च को दोषियों को मृत्युदंड (capital punishment) दे दिया जाएगा.

दो बार बिना फांसी दिए ही लौटना पड़ा था
तिहाड़ जेल प्रशासन (Tihar Jail Administration) की टीम पवन जल्लाद को बुधवार को अपनी निगरानी में मेरठ से दिल्ली लेकर गई है. डेथ वारंट (Death warrant) के मुताबिक 20 मार्च को सुबह निर्भया कांड के चारों दोषियों को फांसी दी जानी है. इससे पहले पवन जल्लाद दो बार तिहाड़ पहुंचा था इन अपराधियों को फांसी के फंदे पर लटकाने लेकिन ये शातिर अपराधी कानूनी दांवपेंच आजमा कर फांसी की सजा आगे बढ़वाते रहे और पिछली दोनों बार फांसी की सजा टलने से उसे बिना फांसी दिए ही वापस लौटना पड़ा था.

तिहाड़ जेल प्रशासन की टीम मेरठ ज़िला कारागार के वरिष्ठ जेल अधीक्षक से औपचारिक मुलाकात के बाद पवन जल्लाद को अपनी निगरानी में बुधवार को दिल्ली ले गई. News 18 से ख़ास बातचीत में पवन जल्लाद कई बार कह चुका है कि कि वो फांसी देने में अपने दादा का रिकॉर्ड तोड़ेगा. पवन ने बताया कि उनके दादा ने एक साथ दो लोगों को फांसी के फंदे पर लटकाया था. लेकिन वो चार दोषियों को एक साथ फांसी के फंदे पर लटकाकर अपने दादा का रिकॉर्ड तोड़ेगा. पवन ने कहा कि वो अपने दादा के साथ पटियाला इलाहाबाद आगरा और जयपुर फांसी देने के दौरान जा चुका है.



बता दें कि पवन जल्लाद के रहने की व्यवस्था तिहाड़ में ही की गई है. यहां पवन को फांसी देने का अभ्यास फिर से कर रहा है. तिहाड़ जेल प्रशासन बक्सर से मंगाई गई रस्सी से पवन जल्लाद को फांसी का अभ्यास करा रहा है. दोषियों की रिपोर्ट के मुताबिक फंदे की लंबाई तय करने के बाद दोषियों के वज़न के अनुसार ही पुतले का वज़न तय किया जाता है. अभ्यास के दौरान फांसी घर में वैसे ही ख़ामोशी होती है जैसे फांसी देने के समय होती है. फांसी देते वक्त सारी बातें इशारों में की जाती हैं.



हिन्दी अखबार नवभारत टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार बुरी तरह से कानूनी दांवपेंच में उलझे हुए निर्भया गैंग रेप केस के चार दोषियों में से एक विनय ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित तिहाड़ जेल के अधिकारी से कहा था कि अगर उन्हें फांसी देने से रेप रुक जाएं तो उन्हें मौत की सजा दे दी जाए. रिपोर्ट के अनुसार विनय ने कहा- 'अगर हमें फांसी देने से देश में रेप रुक जाएंगे, तो बेशक हमें फांसी पर लटका दो, लेकिन यह बलात्कार रुकने वाले नहीं हैं.' रिपोर्ट के अनुसार अधिकारी ने यह भी कहा था कि मुकेश को छोड़कर और किसी भी दोषी का चेहरा देख कर नहीं लग रहा है कि उन्हें 1 दिन बाद यानि 20 मार्च को फांसी होनी है. फिलहाल कोर्ट में दोषियों की अब कोई याचिका लंबित नहीं है इसलिए कल दोषियों की फांसी तय है.

ये भी पढ़ें- निर्भया के दोषियों ने दी नई याचिका, कहा-कोरोना वायरस के समय में फांसी देना ठीक नहीं


News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेरठ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 19, 2020, 1:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading