Home /News /uttar-pradesh /

Meerut-Delhi Express Way: एक छोटी सी गलती भी पड़ेगी भारी, हर गाड़ी पर होगी पैनी नजर

Meerut-Delhi Express Way: एक छोटी सी गलती भी पड़ेगी भारी, हर गाड़ी पर होगी पैनी नजर

 मेरठ दिल्ली एक्सप्रेस वे के कोने कोने में कैमरे लगे हुए हैं. पूरा सिस्टम कंट्रोल रुम से मॉनिटर किया जाता है.

मेरठ दिल्ली एक्सप्रेस वे के कोने कोने में कैमरे लगे हुए हैं. पूरा सिस्टम कंट्रोल रुम से मॉनिटर किया जाता है.

Meerut-Delhi Expressway: मेरठ दिल्ली एक्सप्रेस वे के कोने कोने में कैमरे लगे हुए हैं. पूरा सिस्टम कंट्रोल रुम से मॉनिटर किया जाता है. अगर एक्सप्रेस वे पर कोई एक्सीडेंट होता है तो रिकवरी वैन टीम चौबीस घंटे तैयार रहती है. काशी टोल प्लाज़ा पर एनपीआर बेस्ड सिस्टम लगाया गया है.

अधिक पढ़ें ...

मेरठ. एक तरफ मेरठ दिल्ली एक्सप्रेस सफर के लिहाज़ से आरामदायक है क्योंकि मात्र 45 मिनट में मेरठ से दिल्ली की दूरी तय हो जाती है. दूसरी तरफ यहां ऐसे ऐसे सिस्टम लगाए गए हैं जो आज तक किसी भी एक्सप्रेस वे पर अभी तक नहीं लगे. यहां वाहन चालक को गलती भारी पड़ सकती है क्योंकि यहां ग़लती की माफी नहीं है. एक्सप्रेस वे पर जहां इंटेलिजेंट ट्रैफिक के रुप में हिंदुस्तान का पहला सिस्टम लगाया गया है. वहीं काशी टोल प्लाज़ा पर कंट्रोल रुम के माध्यम से सारी मॉनिटरिंग होती है.

न्यूज़ 18 ने काशी टोल प्लाज़ा पर बने कंट्रोल रुम का जायज़ा लिया तो अधिकारियों ने बताया कि मेरठ दिल्ली एक्सप्रेस वे पर सफर आसान है लेकिन यहां गलती की माफी नहीं है. कंट्रोल रुम में कार्य कर रहे ऑफिसर मनीष ने बताया कि मेरठ दिल्ली एक्सप्रेस वे के कोने कोने में कैमरे लगे हुए हैं. पूरा सिस्टम कंट्रोल रुम से मॉनिटर किया जाता है. अगर एक्सप्रेस वे पर कोई एक्सीडेंट होता है तो रिकवरी वैन टीम चौबीस घंटे तैयार रहती है. काशी टोल प्लाज़ा पर एनपीआर बेस्ड सिस्टम लगाया गया है. व्हीकल मैनेजमेंट सिस्टम एनपीआर ऑटोमेटिक लाइसेंस प्लेट रीडिंग सिस्टम भी यहां लगाया गया है. पहले ये फास्टैग बेस्ड था लेकिन काशी टोल प्लाज़ा पर एनपीआर कैमरा बेस्ड सिस्टम लगा हुआ है इसकी एक्यूरेसी सौ फीसदी है. अधिकारियों के अनुसार यह लेटेस्ट टेक्नोलॉजी मोस्ट हाईटेक सिस्टम है.

25 दिसम्बर से टोल
दिल्ली एक्सप्रेस वे पर 25 दिसंबर से जनता को टोल देना पड़ेगा. एक्सप्रेस वे से मेरठ से दिल्ली जाने पर यात्रियों को 140 रुपया टोल देना पड़ेगा. 25 दिसंबर सुबह 8 बजे से एक्सप्रेस वे पर टोल प्लाजा चालू हो जाएगा. एक्सप्रेस वे बनने के पूरे आठ महीने बाद इस पर टोल वसूली शुरू होगी. सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने टोल दरों पर मुहर लगा दी है. टोल प्लाजा पर सात प्रवेश द्वार बनाए गए हैं.

मेरठ से दिल्ली सराय काले खां तक कार, जीप या हल्के वाहनों के लिए 140 रुपये देने होंगे. इसके अलावा इंदिरापुरम तक 95 रुपये, डूंडाहेड़ा तक 75 रुपये, डासना तक 60 रुपये रसूलपुर तक 45 रुपये और भोजपुर तक 20 रुपये देने होंगे। वही, हल्के वाणिज्यिक वाहन या हल्के माल वाहनों को सराय काले खां तक 225 रुपये देने होंगे। इसी क्रम में बस या ट्रक को मेरठ से सराय काले खां तक 470 रुपये देने होंगे. कार से रसूलपुर सिकरोड़ से दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर प्रवेश करते हैं तो सराय काले खां तक 95 रुपये, इंदिरापुरम तक 50 रुपये, डूडाहेड़ा तक 30 रुपये, डासना तक 15 रुपये, भोजपुर तक 25 रुपये और मेरठ तक 45 रुपये का टोल देना होगा. मेरठ से चलने पर भोजपुर तक 20 रुपये, रसूलपुर सिकरोड तक 45 रुपये, डासना तक 60 रुपये, डूडाहेड़ा तक 75 रुपये और इंदिरापुरम तक 95 रुपये देने होंगे.

हल्की कमर्शियल गाड़ियों को सराय काले खां और मेरठ के बीच उन पर 225 रुपये का टोल टैक्स लगेगा. वहीं बस और ट्रक के लिए मेरठ और सराय काले खां के बीच टोल टैक्स 470 रुपये लगेगा. मेरठ से दिल्ली के बीच अधिकतम टोल टैक्स 900 रुपये रखा गया है.

Tags: Delhi Meerut Expressway, Meerut Delhi Expressway Inaugurated

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर