नौकरी की लालच में दाढ़ी कटवाने वाले कट्टर दारोगा को बर्खास्त किया जाए: हिंदू महासभा

कट्टर दारोगा को बर्खास्त किया जाए
कट्टर दारोगा को बर्खास्त किया जाए

सहारनपुर निवासी इंतसार अली यूपी पुलिस (UP Police) में एसआई (SI) के पद पर भर्ती हुए थे और पिछले तीन साल से वह बागपत जिले में कार्यरत हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2020, 3:40 PM IST
  • Share this:
मेरठ. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बागपत (Baghpat) जनपद के रामाला थाने में तैनात सब इंस्पेक्टर इंतसार अली (SI Intsar Ali) को बिना अनुमति लंबी दाढ़ी रखने के आरोप में पुलिस अधीक्षक ने निलंबित कर दिया था. मामला तूल पकड़ने के बाद उत्तर प्रदेश के मेरठ में अखिल भारत हिन्दू महासभा (All India Hindu Mahasabha) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पंडित अशोक शर्मा (Pandit Ashok Sharma) ने बड़ा बयान दिया है.

पंडित अशोक शर्मा ने बागपत में लंबी दाढ़ी रखने के बाद विवाद में आए दारोगा को बर्खास्त करने की मांग की है. उन्होंने कहा कि देश के अंदर कट्टरवाद का बीज बोया जा रहा है. पंडित अशोक शर्मा ने बागपत के दारोगा को दुर्भाग्यशाली बताते हुए कहा कि उन्होंने धर्म का प्रचार करने के लिए दाढ़ी रखी थी. लेकिन बाद में नौकरी की लालच में वो अपने धर्म को भूल गए. पंडित अशोक शर्मा ने कहा कि जब उन्हें नौकरी से सस्पेंड किया गया तो उन्होंने आऩन- फानन में दाढ़ी कटवा ली.

धर्म के पक्के थे तो उन्हें दाढ़ी नहीं कटवानी चाहिए थी
उन्होंने कहा कि अगर दारोगा जी धर्म के पक्के थे तो उन्हें दाढ़ी नहीं कटवानी चाहिए थी. पंडित अशोक शर्मा ने कहा जब बात नौकरी पर आई थी कट्टर दारोगा जी डर कर भाग गए. अखिल भारत हिन्दू महासभा ने भारत सरकार से मांग की है कि ऐसे कट्टर दारोगा को बर्खास्त कर देना चाहिए. बता दें कि दारोग ने दाढ़ी कटवाने के बाद फिर से नौकरी ज्वाइन कर ली है.
सहारनपुर निवासी इंतसार अली यूपी पुलिस में एसआई के पद पर भर्ती हुए थे और पिछले तीन साल से वह बागपत जिले में कार्यरत हैं. लॉकडाउन से पहले उन्हें रमाला थाने में तैनाती दी गई थी. पुलिस विभाग के नियमों के विपरीत लंबी दाढ़ी रखने को लेकर चर्चा में आए थे.



एसपी ने बताया पुलिस मैनुअल के खिलाफ
इससे पहले एसपी अभिषेक सिंह ने न्यूज़ 18 से बताया कि पुलिस मैनुअल के अनुसार, पुलिस बल में तैनात रहते हुए सिख समुदाय के पुलिसकर्मियों को छोड़कर कोई भी अन्य अधिकारी या कर्मचारी दाढ़ी नहीं रख सकता और अगर कोई रखना चाहता है तो उसे प्रशासन से अनुमति लेनी होगी. लेकिन, दारोगा इंतसार अली बिना अनुमति के ही दाढ़ी रख रहे थे, जिसकी शिकायत मिल रही थी. काफी समझाने और नोटिस देने के बावजूद भी उन्होंने दाढ़ी नहीं कटवाकर अनुशासनहीनता दिखाई थी. इस पर दारोगा के खिलाफ कार्रवाई की गई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज