लाइव टीवी

आखिर दंगाइयों से कैसे निपटेगी यूपी पुलिस? रिहर्सल के दौरान नहीं चली बंदूकें

Umesh Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: November 1, 2019, 6:12 PM IST
आखिर दंगाइयों से कैसे निपटेगी यूपी पुलिस? रिहर्सल के दौरान नहीं चली बंदूकें
कैसे होगी यूपी वालों की सुरक्षा, जाम रहती हैं पुलिस की बंदूकें

गोलियां (Bullets) ना चलता देख कोई सिपाही (UP Police Constable) पेचकस से बंदूक में फंसी गोली निकालने लगा, तो कोई पुलिस वाला जमीन में बंदूक ठोक कर गोली निकालता नजर आया.

  • Share this:
हमीरपुर. उत्तर प्रदेश  (Uttar Pradesh) के हमीरपुर (Hamirpur) जिले में शुक्रवार को पुलिस ने अयोध्या में राम मंदिर (Ram Mandir) पर फैसला आने के मद्देनजर दंगा रिहर्सल का आयोजन किया था. जिसमें आधा दर्जन बंदूकें फेल हो गईं. पुलिस वाले जाम हुई बंदूकों को जमीन में ठोकते हुए नजर आए. इन बाबा आदम के जमाने की बंदूकों से गोलियां तो नहीं चली हां धुंआ जरूर निकला.

यूपी पुलिस की हकीकत देखिए कैसे फायर करते वक्त जाम हो गईं आधा दर्जन सरकारी रायफलें. इन बंदूकों से गोलियां चली ही नहीं. गोलियां ना चलता देख कोई सिपाही पेचकस से बंदूक में फंसी गोली निकालने लगा, तो कोई पुलिस वाला जमीन में बंदूक ठोक कर गोली निकालता नजर आया. पुलिस की इतनी फजीहत तब हुई जब जिले के एसपी के साथ सभी आला अधिकारी मौजूद थे.

मॉकड्रिल के दौरान की घटना
4 नवंबर के बाद अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आना है इसके चलते जिलों में कानून व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए पुलिस को तैयार किया जा रहा है. इसलिए शुक्रवार को हमीरपुर ज़िले में पुलिस परेड ग्राउंड में मॉकड्रिल किया गया था. जिनमें दंगा नियंत्रण की रिहर्सल के दौरान पुलिस की बंदूकें ही जाम हो गईं. ऐसे में सवाल उठता है कि जब पुलिस की बंदूकें फायर ही नहीं करेंगी तब बदमाशों और दंगाइयों से कैसे निपटेगी यूपी पुलिस?

फैसले से पहले पुलिसवालों की छुट्टियां रद्द
बता दें कि अयोध्या मुद्दे (Ayodhya Case) पर आने वाले फैसले को लेकर राज्यभर की पुलिस अलर्ट मोड पर है. प्रदेश सरकार ने पहले ही एहतियातन सभी पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की 30 नवंबर तक की छुट्टियां रद्द कर दी हैं. पुलिस और प्रशासन इस संवेदनशील मुद्दे पर किसी भी प्रकार की अप्रिय स्थिति को टालने के लिए चाक-चौबंद है.

जुमे की नमाज में होगी अपील
Loading...

वहीं मौलाना खालिद रशीद का कहना है कि अयोध्या मसले के फैसले से पहले जुमे की नमाज में मस्जिदों में आपसी भाईचारा बनाए रखने की अपील की जाएगी. उन्होंने कहा कि मौलाना अपील करेंगे कि कोर्ट से चाहे जो भी फैसला आए समाज में अमन-चैन बना रहे. उन्होंने कहा कि किसी भी शख्स को घबराने की जरूरत नहीं है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सबको भरोसा होना चाहिए. किसी की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने की कोई बात न करे.

ये भी पढ़ें: 

CRPF कैंप पर आतंकी हमला केस में 6 दोषी करार, कौसर और गुलाब खान बरी
उत्तर प्रदेश में प्रदूषण और Smog का कहर जारी, CM योगी ने बुलाई आपात बैठक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए महोबा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 4:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...