होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /MEERUT NEWS: हस्तिनापुर में हुई खुदाई से मिले महाभारत कालीन तथ्य

MEERUT NEWS: हस्तिनापुर में हुई खुदाई से मिले महाभारत कालीन तथ्य

हस्तिनापुर पांडव टीले में की गई खुदाई के चित्र

हस्तिनापुर पांडव टीले में की गई खुदाई के चित्र

UP News: हस्तिनापुर के पौराणिक इतिहास से अगर आप बाकी होना चाहते हैं. तो आप सभी के लिए बेहतरीन अवसर है. भारतीय पुरातत्व ...अधिक पढ़ें

  • Local18
  • Last Updated :

    रिपोर्ट- विशाल भटनागर

    मेरठ: अगर आप महाभारत कालीन इतिहास से रूबरू होना चाहते हैं. देखना चाहते हैं कि, पुरातत्व विभाग द्वारा अब तक की गई खुदाई में ऐसा क्या क्या हासिल किया है. जिससे पौराणिक इतिहास के तथ्यों के बारे में पता चल सके. तो आप सभी के लिए चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय के इतिहास विभाग में भारतीय पुरातत्व विभाग द्वारा विश्व धरोहर दिवस पर लगाई गई साप्ताहिक प्रदर्शनी देखने लायक है. जहां पर आप हस्तिनापुर की खुदाई में मिले विभिन्न ऐसे तत्वों को चित्रों के माध्यम से देख पाएंगे. जोकि हजारों साल की सभ्यता को दर्शाता है.

    हजारों साल की सभ्यता के बारे में हस्तिनापुर में जब भी खुदाई की जाती है. तो कुछ ना कुछ ऐसे तथ्य देखने को मिलते हैं. जो पौराणिक इतिहास में वर्णन है. कुछ इसी तरह के तथ्य हस्तिनापुर में पांडव टीले सहित आसपास के क्षेत्रों में की गई खुदाई में मिले मिट्टी के बर्तन, तलवार, जैसी चीजें भी देखने को मिली. जोकि काफी रोचक है. इन्हें भी प्रदर्शनी में दर्शाया गया है.

    हाथी के दांत से लेकर कई रोचक वस्तुएं
    पुरातत्व विभाग ने अपने म्यूजियम में हस्तिनापुर में मिली सभी वस्तुओं को संजोया है. लेकिन युवा उसका अवलोकन कर सके. इसीलिए सभी वस्तुओं के चित्र को उकेरा गया है. चित्रों के माध्यम से आप उन सभी वस्तुओं को देख सकते हैं. जो अब तक की खुदाई में मिली है.

    इतिहास जानने का अच्छा मौका

    विश्वविद्यालय परिसर इतिहास विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर विघ्नेश कुमार त्यागी के अनुसार यह सभी चित्र हजारों साल की सभ्यता को दर्शाते हैं. ऐसे में जो भी युवा इस प्रदर्शनी का अवलोकन करेंगे. वह सभी रोचक रहस्य के बारे में भी अवगत हो सकेंगे. क्योंकि पुरातत्व विभाग द्वारा अपनी टीम भी यहां पर तैनात गई है. जो प्रत्येक जानकारी बारीकी से युवाओं को प्रदान कर रही है.

    आपके शहर से (मेरठ)

    बताते चलें की विश्व धरोहर दिवस के अवसर पर इस तरह की प्रदर्शनी लगाई गई है. जिसमें जहां विश्व भर से संबंधित ऐतिहासिक चित्रों को दर्शाया गया है. वहीं हस्तिनापुर के इतिहास को युवा जान सके वह भी इस चित्रों के माध्यम से दिखाए गए.

    Tags: Meerut news, UP news

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें