• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • Meerut : आईटीएमएस योजना से ट्रैफिक तो नियंत्रित होगा ही, लोगों को मुफ्त मिलेगा वाई-फाई भी

Meerut : आईटीएमएस योजना से ट्रैफिक तो नियंत्रित होगा ही, लोगों को मुफ्त मिलेगा वाई-फाई भी

मेरठ के जिला अस्पताल, मवाना बस अड्डा और सोहराबगेट बस अड्डे पर इसी महीने से मुफ्त वाई-फाई सेवा शुरू हो जाएगी. (सांकेतिक फोटो)

मेरठ के जिला अस्पताल, मवाना बस अड्डा और सोहराबगेट बस अड्डे पर इसी महीने से मुफ्त वाई-फाई सेवा शुरू हो जाएगी. (सांकेतिक फोटो)

Free Wi-Fi : मेरठ के नगर आयुक्त मनीष बंसल के मुताबिक, मेरठ के जिला अस्पताल, मवाना बस अड्डा और सोहराबगेट बस अड्डे पर वाई-फाई की सुविधा कुछ ही दिनों में शुरू हो जाएगी, जबकि आने वाले दिनों में शहर के 10 स्थानों पर वाई-फाई चालू हो जाएगा.

  • Share this:

मेरठ. मेरठ में इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम (आईटीएमएस) योजना से सिर्फ शहर के चौराहों की यातायात व्यवस्था ही नहीं सुधरेगी, बल्कि लोगों को मुफ्त वाई-फाई योजना का लाभ भी दिया जाएगा. शहर में कई स्थानों पर वाई-फाई की सुविधा दी जाएगी. मेरठ के नगर आयुक्त मनीष बंसल का दावा है कि इसी महीने तीन जगहों पर वाई फाई की सुविधा शुरू कर दी जाएगी.

मेरठ के नगर आयुक्त मनीष बंसल के मुताबिक, मेरठ के जिला अस्पताल, मवाना बस अड्डा और सोहराबगेट बस अड्डे पर वाई-फाई की सुविधा कुछ ही दिनों में शुरू हो जाएगी, जबकि आने वाले दिनों में शहर के 10 स्थानों पर वाई-फाई चालू हो जाएगा. उन्होंने बताया कि इसे लेकर सर्वे कर लिया गया है. जीपीएस के माध्यम से नगर निगम अपनी गाड़ियों की लोकेशन भी ट्रेस करेगा. निगम का दावा है कि बंगलुरू की तर्ज पर मेरठ चमकेगा. महानगर में वाई-फाई लगाने की जिम्मेदारी मिलते ही निजी कंपनी की टीम नगर निगम पहुंची. टीम ने नगर निगम भैसाली रोडवेज बस अड्डा, सदर तहसील, कमिश्नरी चौराहा और चौधरी चरण सिंह विवि में भी सर्वे किया.

इसे भी पढ़ें : मेरठ: हाइप्रोफाइल फैमिली में व्यापारी के सुसाइड से सनसनी, पत्नी ने भी अपनी गर्दन काटी

नगर आयुक्त का कहना है कि टेंडर की कार्रवाई पूरी करके एग्रीमेंट कर लिया है और वर्क ऑर्डर वाई-फाई को लेकर जारी कर दिया गया है. वहीं मेरठ को 7 लाख मीट्रिक टन वाले कूड़े के पहाड़ से भी मुक्ति मिल रही है. क्रांति की नगरी मेरठ पर बदनुमा दाग लगाने वाले कूड़े के पहाड़ के निस्तारण को लेकर बड़ी कवायद शुरू हुई है. यहां नए प्लांट से जहां रोजाना 600 टन कूड़ा निस्तारण प्लांट चालू हो गया है, वहीं कूड़ा निस्तारण को लेकर और भी कार्ययोजना का खाका तैयार कर लिया गया है.

इसे भी पढ़ें : Viral Video: 2 चिकित्सा अधीक्षकों ने डॉक्टर को सरेआम जमकर पीटा

मेयर और अधिकारियों का दावा है कि आने वाले दो से ढाई साल में कूड़ा निस्तारण प्लांट से शहर की सूरत बदली बदली नजर आएगी. अधिकारियों का कहना है कि मेरठ में रोजाना तकरीबन 800 मीट्रिक टन फ्रेश कूड़ा निकलता है. ऐसे में इस शहर को रोजाना निकलने वाले कूड़े के निस्तारण के लिए भी प्लांट की आवश्यकता है. नगर आयुक्त का कहना है कि हाईटेक कूड़ा निस्तारण प्लांट से निकलने वाला कंपोस्ट किसानों को दिया जाएगा, ताकि उनकी खेती उपजाऊ हो सके. साथ ही कंपनियों से टाईअप करके नगर निगम अन्य मटेरियल बेचेगा, ताकि विभाग को रेवन्यू भी मिल सके.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज