होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /जन्माष्टमी पर इस बार वर्षों बाद बन रहा है ये महासंयोग

जन्माष्टमी पर इस बार वर्षों बाद बन रहा है ये महासंयोग

जन्माष्टमी के पावन पर्व की छटा पूरे देश में देखते ही बन रही है. इस वर्ष शिक्षक दिवस 5 सितंबर शनिवार को भाद्रपद कृष्णपक्ष अष्टमी को महाजन्माष्टमी पूरे देश में मनाई जाएगी.

जन्माष्टमी के पावन पर्व की छटा पूरे देश में देखते ही बन रही है. इस वर्ष शिक्षक दिवस 5 सितंबर शनिवार को भाद्रपद कृष्णपक्ष अष्टमी को महाजन्माष्टमी पूरे देश में मनाई जाएगी.

जन्माष्टमी के पावन पर्व की छटा पूरे देश में देखते ही बन रही है. इस वर्ष शिक्षक दिवस 5 सितंबर शनिवार को भाद्रपद कृष्णपक् ...अधिक पढ़ें

    जन्माष्टमी के पावन पर्व की छटा पूरे देश में देखते ही बन रही है. इस वर्ष शिक्षक दिवस 5 सितंबर शनिवार को भाद्रपद कृष्णपक्ष अष्टमी को महाजन्माष्टमी पूरे देश में मनाई जाएगी.

    भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव पर रोहिणी नक्षत्र और वृष राशि के चन्द्रमा में एक साथ होने से इस बार महासंयोग बनेगा. कई वर्षों बाद यह दुर्लभ संयोग आया है. रोहिणा नक्षत्र पांच सितम्बर को पूरा दिन और आधी रात बारह बजकर दस मिनट तक रहेगा.

    ज्योतिषाचार्यों का कहना है कि इस बार रोहिणी नक्षत्र अष्टमी तिथि से युक्त है. इस योग को जयंती योग भी कहा जाता है. वृष राशि के चन्द्रमा में आने से यह माहपुण्य जयंती योग बना है. जो अपने आप में बेहद दुर्लभ माना जा रहा है.

    हर बार वृष का चन्द्रमा में होना होता था, लेकिन रोहिणी नक्षत्र नहीं होता था. पूरे देश के मंदिरों में कृष्ण जनमाष्टमी की धूम है. ये दर्शाता है कि आस्था सर्वोपरि है.

    मान्यता है कि श्रद्धालु इस दिन भगवान बालकृष्ण के मंत्रों का जाप करें और कान्हा को वस्त्र पहनाकर मक्खन मिश्री का भोग लगाएं. बाजारों में श्री कृष्ण जन्माष्टमी को लेकर जबरदस्त उत्साह देखा जा रहा है.

    आपके शहर से (मेरठ)

    Tags: Lord krishna

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें