लाइव टीवी

गैंगवार से जुड़े हो सकते हैं मेरठ के कंकरखेड़ा हत्याकांड के तार !
Meerut News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: January 16, 2020, 11:56 PM IST
गैंगवार से जुड़े हो सकते हैं मेरठ के कंकरखेड़ा हत्याकांड के तार !
कंकरखेडा हत्याकांड में घटनास्थल का मुआयना करती पुलिस

पुलिस के मुताबिक पैसों के लेनदेन को लेकर अक्षय को मौत के घाट उतारा गया. मामले में आरोपी निशांत मगनवीर और गर्वित चौधरी ने पहले अक्षय के साथ मिलकर शराब पी और फिर पैसे के लेनदेन को लेकर उसे 11 जनवरी को गोलियों से भून दिया था.

  • Share this:
मेरठ. गुरुवार को मेरठ पुलिस (Meerut Police) ने बीती 11 जनवरी को कंकरखेड़ा में हुए हत्याकांड का खुलासा करने में सफलता पाई. पुलिस ने अक्षय मलिक नाम के शख्स के हत्याकांड मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. 11 जनवरी को कंकरखेड़ा में एक पुरुष का लावारिस शव मिला था. छानबीन में सामने आया कि शव एक मामले में जेल जा चुके अक्षय मलिक का था. अक्षय मलिक का लम्बा चौड़ा आपराधिक रिकॉर्ड (criminal record) रहा है. बताया जाता है कि अक्षय मलिक भदौड़ा गैंग से जुड़ा रहा है और वो नितिन गंजा की हत्या में जेल गया था.

पैसे के लेनदेन को लेकर हुई हत्या
पुलिस के मुताबिक पैसों के लेनदेन को लेकर अक्षय को मौत के घाट उतारा गया. मामले में आरोपी निशांत मगनवीर और गर्वित चौधरी ने पहले अक्षय के साथ मिलकर शराब पी और फिर पैसे के लेनदेन को लेकर उसे 11 जनवरी को गोलियों से भून दिया था. पुलिस अब इस बात को लेकर तफ्तीश कर रही है कि कहीं ये हत्याकांड उधम सिंह और योगेश भदौड़ा के बीच वर्षों से चली आ रही गैंगवार का नतीजा तो नहीं है. गौरतलब है कि कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र के पावली खुर्द के जंगल में 11 जनवरी की रात को हमलावरों ने एक युवक की गोलियों से भूनकर हत्‍या कर दी थी. सुबह ग्रामीण जब जंगल में गए तो खून से लथपथ शव को देख कर उनके होश उड़ गए. मृतक की जेब से मिले आधार कार्ड से उसकी शिनाख्त हो पाई थी.

मृतक की पहचान गांव भदौड़ा के निवासी अक्षय मलिक के रूप में हुई थी. वहीं घटनास्थल से पुलिस ने शराब की बोतल, तीन गिलास, नमकीन भी बरामद की थी. साथ ही मौके से 315 बोर के तीन खोखे, एक बुलेट भी बरामद हुई थी. पुलिस ने आधार कार्ड के आधार पर मृतक के परिजनों को सूचना दी थी और परिजनों ने मौके पर पहुंचकर शव की शिनाख्त अक्षय मलिक के रूप में की थी. बताते चलें कि भदौड़ा गैंग मेरठ, बिजनौर, गाजियाबाद और आस पास के कई जिलों में आपराधिक गतिविधियों को अंजाम देता रहा है और पिछले कुछ सालों में उधम सिंह और योगेश भदौड़ा के बीच चली आ रही गैंगवार के चलते पुलिस के राडार पर रहा है.



ये भी पढ़ें- Sheroes Cafe की तर्ज पर वाराणसी में खुलेगा एसिड अटैक सर्वाइवर्स के लिए 'The Orange Cafe'


एक करोड़ की डकैती की वारदात का मास्टरमाइंड था 9th पास, पुलिस ने किया खुलासा....

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेरठ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 11:56 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर