Home /News /uttar-pradesh /

know after all a carpet of grass is being laid in the state freedom struggle museum of meerut to welcome

जानिए:- आखिर किसके स्वागत में मेरठ के राजकीय स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय में बिछाई जा रही है घास की कालीन

कालीन

कालीन घास लगाती महिलाएं

पश्चिम उत्तर प्रदेश West Uttar-pradesh के मेरठ Meerut में 10 मई 1857 की क्रांति दिवस Revolution Day को धूमधाम से मनाने के लिए अब तैयारियां शुरू हो गयी हैं.एक तरफ जहां शहर भर में विभिन्न स्थानों पर भव्य कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे.वहीं दूसरी ओर राजकीय स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय में भी भव्य तैय?

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट विशाल भटनागर मेरठ
    मेरठ:-पश्चिम उत्तर प्रदेश West Uttar-pradesh के मेरठ Meerut में 10 मई 1857 की क्रांति दिवस Revolution Day को धूमधाम से मनाने के लिए अब तैयारियां शुरू हो गयी हैं.एक तरफ जहां शहर भर में विभिन्न स्थानों पर भव्य कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे.वहीं दूसरी ओर राजकीय स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय में भी भव्य तैयारियां की जा रही हैं.माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी इस कार्यक्रम में सम्मिलित हो सकते हैं.हालांकि अभी तक इस बात की अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है.लेकिन मुख्यमंत्री के आने की संभावनाओं को देखते हुए स्मारक में जहां भी मैदान खाली है वहां पर कारपेट घास लगाई जा रही है.

    डासना की कारपेट घास शहीद स्मारक में बढ़ाएगी शान
    राजकीय स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय (शहीद स्मारक) में जो कारपेट घास लगाई जा रही है.वह अद्भुत घास होती है.इस घास को एक जगह से उखाड़कर दूसरी जगह लगाया जाता है.गाज़ियाबाद के डासना में विशेष तौर पर कालीन घास की खेती भी की जाती है.

    35 मिनट में जान पाएंगे क्रांति का इतिहास
    राजकीय स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय के अध्यक्ष पतरू ने बताया कि पर्यटन विभाग की तरफ से परिसर में एक लाइट साउंड वीडियो स्क्रीन सिस्टम भी लगाया जा रहा है.जिसमें 10 मई 1857 से लेकर 15 अगस्त 1947 तक के इतिहास को सिर्फ 35 मिनट में दिखाने का प्रयास किया जाएगा.उन्होंने कहा कि 35 मिनट की डॉक्यूमेंट्री के माध्यम से आजादी के लिए जो क्रांतिकारियों ने योगदान दिया है.उस को दर्शाया गया है.बताते चलें कि राजकीय स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय में पहले ही हाईटेक गैलरी बनाई गई है.जिसमें एलईडी और चित्रों के माध्यम से क्रांति के पूरे इतिहास को संजोया गया है.जिसको देखने के लिए मेरठ ही नहीं बल्कि दूर-दराज के लोग भी अब आने लगे हैं.इस कार्य से और भी ज्यादा लोगों का रुझान बढ़ेगा.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर