लाइव टीवी
Elec-widget

मेरठ: जानिए कौन है अंग्रेज़ों के ज़माने का वो कोतवाल जिसका रोज नमन करते हैं पुलिसकर्मी

Umesh Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: November 30, 2019, 5:44 PM IST
मेरठ: जानिए कौन है अंग्रेज़ों के ज़माने का वो कोतवाल जिसका रोज नमन करते हैं पुलिसकर्मी
मेरठ के सदर थाने के कोतवाल धनसिंह गुर्जर ने 1857 की क्रांति में अपने साथियों के साथ मिलकर अंग्रेजों से लोहा लिया था और क्रांतिकारियों की मदद की थी.

मेरठ की धरती पर क्रांति का बिगुल फूंकने वाले शहीद धनसिंह कोतवाल का इतिहास पुलिस हमेशा याद रखती है. यही नहीं उनके इतिहास को यूपी पुलिस ट्रेनिंग का हिस्सा बना दिया गया है.

  • Share this:
मेरठ. अंग्रेज़ों के ज़माने के इस कोतवाल को आज भी सभी पुलिसकर्मी नमन करते हैं. मेरठ के सदर बाज़ार थाने में इस कोतवाल की याद में हर वर्ष बड़ा जलसा होता है. कोतवाल का नाम है धन सिंह गुर्जर. जंग-ए-आजादी की पहली लड़ाई में अंग्रेजों से लोहा लेने और मेरठ की धरती पर क्रांति का बिगुल फूंकने वाले शहीद धनसिंह कोतवाल का इतिहास पुलिस हमेशा याद रखती है. यही नहीं उनके इतिहास को यूपी पुलिस ट्रेनिंग का हिस्सा बना दिया गया है.

मेरठ के सदर थाने के कोतवाल धनसिंह गुर्जर ने 1857 की क्रांति में अपने साथियों के साथ मिलकर अंग्रेजों से लोहा लिया था और क्रांतिकारियों की मदद की थी. इसके बदले अंग्रेजों ने उन्हें फांसी पर लटका दिया था. सदर थाने के प्रांगण में शहीद धनसिंह कोतवाल की प्रतिमा कुछ वर्ष पहले लगाई गई थी. इस बार उनकी जयंती 27 नवंबर को भी पुलिसकर्मियों ने उन्हें शत् शत् प्रणाम किया. शहीद धनसिंह कोतवाल ऐसे पहले पुलिसकर्मी थे, जिन्होंने अंग्रेजों के खिलाफ मोर्चा लिया था. अंग्रेजों के रिकार्ड से भी इस बात की पुष्टि हुई.

मेरठ के सदर बाज़ार थाने के वर्तमान थानाध्यक्ष फक्र महसूस करते हैं कि वो ऐसे थाने के इंचार्ज है जहां धन सिंह कोतवाल जैसी शख्सियत अंग्रेज़ों के ज़माने में कोतवाल हुआ करते थे. धन सिंह कोतवाल को याद करते-करते इस थाने में तैनात सभी पुलिसकर्मी आज भी भावुक हो जाते हैं. सदर थाने के अंदर दाखिल होते ही सबसे पहले धन सिंह कोतवाल की प्रतिमा के ही आपको दर्शन होते हैं. ये पूछे जाने पर कि धन सिंह कोतवाल से पुलिसकर्मी क्या सीख लेते हैं? सदर बाज़ार थाने के कोतवाल कहते हैं कि जिस तरह से देश की सेवा करते-करते उन्होंने अपने प्राणों की आहूति दी थी. वैसे ही वो हमेशा इस संकल्प को याद रखते हैं कि कर्म सर्वोपरि होता है.

मेरठ के सदर बाज़ार थाने में तैनात सभी पुलिसकर्मी अपनी वीर योद्धा को रोज़ाना प्रणाम करके ही अपने दिन के कार्यों की शुरुआत करते हैं. इस थाने में तैनात सिपाही हो या दारोगा, संतरी हो या फिर थानेदार सभी सबसे पहले थाने के कैम्पस में दाखिल होते ही सबसे पहले धन सिंह कोतवाल को प्रणाम करते हैं और फिर अपने कार्यों में जुट जाते हैं.

ये भी पढ़ें:

पुलिस लाइन में जबरन घुसकर मस्जिद नमाज पढ़ने के मामले में AIMIM नेता सहित 3 के खिलाफ FIR

गजब! बाघ के खौफ से खुले में शौच से मुक्त हो गए आधा दर्जन गांव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेरठ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2019, 5:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...