Home /News /uttar-pradesh /

यूपी महिला रणजी टीम में मजदूर की बेटी का चयन, 12 साल बाद मेरठ से निकला क्रिकेट का नया सितारा

यूपी महिला रणजी टीम में मजदूर की बेटी का चयन, 12 साल बाद मेरठ से निकला क्रिकेट का नया सितारा

यूपी रणजी वन-डे टीम में चयनित होने के बाद भूमि कानपुर में 3 दिन के कैंप में शामिल होने पहुंची हुई हैं. वह 31 अक्तूबर को वनडे मैच खेलेंगी.

यूपी रणजी वन-डे टीम में चयनित होने के बाद भूमि कानपुर में 3 दिन के कैंप में शामिल होने पहुंची हुई हैं. वह 31 अक्तूबर को वनडे मैच खेलेंगी.

मेरठ के टीपी नगर में देवपुरी निवासी सबमर्सिबल पार्ट्स के कारीगर उमाकांत की बेटी भूमि (Bhoomi) ने भी फर्स्ट क्लास क्रिकेट में एंट्री कर ली है. रणजी टीम में मेरठ की इस बेटी का चयन होने से परिवार तो ख़ुश है ही, कोच भी उत्साहित हैं. 20 वर्षीय भूमि मवाना रोड स्थित जेएसएम क्रिकेट एकेडमी में पिछले 2 साल से कोच विपिन वत्स से प्रशिक्षण ले रही हैं. वह दाएं हाथ की तेज गेंदबाज हैं और भारतीय महिला टीम की गेंदबाज झूलन गोस्वामी (Jhulan Goswami) को अपना आदर्श मानती हैं. कोच का कहना है कि आज इस बेटी ने उनका सपना पूरा कर दिया.

अधिक पढ़ें ...

मेरठ. कहते हैं संघर्ष ही सफलता दिलाती है. मेरठ की बेटी ने संघर्ष के रास्ते कामयाबी की दास्तां लिखी है. ये कहानी है एक मज़दूर की बेटी की, जिसकी आंखों ने बड़े सपने देखे थे. इस बेटी ने आखिरकार अपने सपने को सच कर दिखाया है. हम बात कर रहे हैं मेरठ की बेटी भूमि (Bhoomi) की. क्रिकेट की नर्सरी के तौर पर माने जाने वाले मेरठ ने तकरीबन 12 साल बाद महिला क्रिकेट टीम को नया सितारा दिया है. इस बेटी का चयन यूपी रणजी टीम (UP women Ranji Team) के लिए हो गया है. परिवार के साथ-साथ कोच भी खुशी से फूले नहीं समा रहे हैं. क्रिकेट की दुनिया में सुर्खियों पर रहने वाले मेरठ का नाम एक बार फिर से चमक गया. बेटों के बाद बेटी भूमि ने भी अब जिले का नाम रोशन किया है.

मेरठ के टीपी नगर में देवपुरी निवासी सबमर्सिबल पार्ट्स के कारीगर उमाकांत की बेटी भूमि ने भी फर्स्ट क्लास क्रिकेट में एंट्री कर ली है. रणजी टीम में मेरठ की इस बेटी का चयन होने से परिवार तो ख़ुश है ही, कोच भी उत्साहित हैं. 20 वर्षीय भूमि मवाना रोड स्थित जेएसएम क्रिकेट एकेडमी में पिछले 2 साल से कोच विपिन वत्स से प्रशिक्षण ले रही हैं. वह दाएं हाथ की तेज गेंदबाज हैं और भारतीय महिला टीम की गेंदबाज झूलन गोस्वामी झूलन गोस्वामी (Jhulan Goswami)  को अपना आदर्श मानती हैं. कोच का कहना है कि आज इस बेटी ने उनका सपना पूरा कर दिया.

कोच का कहना है कि तकरीबन 12 साल बाद फर्स्ट क्लास क्रिकेट में मेरठ की इस बेटी का चयन हुआ है. यूपी रणजी वन-डे टीम में चयनित होने के बाद भूमि कानपुर में 3 दिन के कैंप में शामिल होने पहुंची हुई हैं. वह 31 अक्तूबर को वनडे मैच खेलेंगी. भूमि के पिता उमाकांत शहर में एक सबमर्सिबल फैक्टरी में पार्ट्स बनाने का कार्य करते हैं, जबकि माता देवकी गृहिणी हैं. बड़ा भाई वरुण भी पिता के काम में हाथ बंटाता है. भूमि ने फोन पर न्यूज 18 से बातचीत में बताया कि वह स्कूल के समय से ही क्रिकेट खेलती हैं. आर्थिक समस्या के कारण खेल छोड़ने का कई बार मन बनाया, लेकिन परिवार और कोच विपिन वत्स ने हौसला बनाए रखा. कोच ने एकेडमी में कभी फीस नहीं ली और जूतों से लेकर खेल किट भी दी. भूमि ने कहा कि प्लेइंग इलेवन में मौका मिला, तो इसे भुनाने की पूरी कोशिश करूंगी.

मेरठ से प्रवीण कुमार, भुवनेश्वर कुमार, कर्ण शर्मा, प्रियम गर्ग और कार्तिक त्यागी के बाद जिले की बेटी भूमि ने क्रिकेट में कदम आगे बढ़ा दिए हैं. भूमि कानपुर में चैलेंजर ट्रॉफी में मैच खेल रही हैं. चयनकर्ताओं ने यूपी रणजी की 23 सदस्य वाली टीम की घोषणा की, जिसमें सहारनपुर की वर्णिका चौधरी और मेरठ से भूमि का नाम शामिल किया गया है. हालांकि वर्णिका पहले से ही यूपी रणजी टीम में खेल रही हैं. यकीनन इस मजदूर की बेटी ने करिश्मा करके दिखा दिया है. हम यही उम्मीद करते हैं कि भूमि बहुत जल्द इंडियन वूमेंस क्रिकेट टीम का हिस्सा होंगी.

Tags: Meerut news, Ranji cricket

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर