होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

मां से बिछड़ गया लेपर्ड का ये बच्चा, वन विभाग कर्मचारी बोतल से पिला रहे दूध

मां से बिछड़ गया लेपर्ड का ये बच्चा, वन विभाग कर्मचारी बोतल से पिला रहे दूध

मेरठ में ग्राम भगवानपुर के जंगल में तेंदुए का शावक मिला है, जिसे मां से बिछड़ने के बाद वनकर्मी दूध पिला रहे हैं.

मेरठ में ग्राम भगवानपुर के जंगल में तेंदुए का शावक मिला है, जिसे मां से बिछड़ने के बाद वनकर्मी दूध पिला रहे हैं.

UP News: मेरठ में ग्राम भगवानपुर के जंगल में तेंदुए का शावक मिला है. लेपर्ड का ये बच्चा अपनी मां से बिछड़ गया है. गांववालों की सूचना पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची तो पता चला कि गन्ने के खेत में कटाई के दौरान तेंदुए का ये शावक दिखाई दिया. वन विभाग की टीम ने शावक को अपनी अभिरक्षा में लेते हुए मां का रोल निभाना शुरू कर दिया. शावक को मां से मिलाने के लिए ऑपरेशन भी शुरू कर दिया गया है.

अधिक पढ़ें ...

मेरठ. मेरठ में ग्राम भगवानपुर (Village Bhagwanpur) के जंगल में तेंदुए (Leopard) का शावक मिला है. लेपर्ड का ये बच्चा अपनी मां से बिछड़ गया है. गांववालों की सूचना पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची तो पता चला कि भूरे के गन्ने के खेत में कटाई के दौरान तेंदुए का ये शावक दिखाई दिया. वन विभाग की टीम ने शावक को अपनी अभिरक्षा में लेते हुए मां का रोल निभाना शुरू कर दिया. साथ ही असली लेपर्ड मां से मिलन के लिए वन विभाग टीम ने युद्धस्तर पर ऑपरेशन भी शुरू कर दिया.

जिला वन अधिकारी राजेश कुमार का कहना है कि ईसापुर गांव किठौर क्षेत्र में सूचना मिली थी कि यहां एक शावक देखा गया है. सूचना के बाद शावक को रेस्क्यू कर लिया गया है. अब मादा लेपर्ड और बच्चे को मिलाने के लिए ऑपरेशन चल रहा है. राजेश कुमार ने बताया कि ये शावक सिर्फ दूध पी पा रहा है. इसलिए एक मां की तरह ही वन विभाग की टीम उसे बॉटल में दूध पिला रही है.

उन्होंने कहा कि क्योंकि माता और बच्चे अलग हैं इसलिए मां की तलाश में कॉम्बिंग जारी है. उन्होंने बताया कि पूरी प्लानिंग के साथ ऑपरेशन चल रहा है. उन्होंने कहा कि लेपर्ड इस सीज़न में बाहर आ जाते हैं. ऐसे में ये बच्चा अपनी मां से बिछड़ गया है. अब शावक को डॉक्टर्स की टीम के साथ रखा गया है और मां से मिलन के लिए ऑपरेशन चलाया जा रहा है.

अब गाईडलाईन के अनुसार वन्य जीव विशेषज्ञों की सलाह पर तेंदुए के शावक को दोबारा मिलाये जाने की कार्रवाई वन विभाग कर रहा है. इसके साथ ही वन विभाग के अधिकारी ग्रामीण के साथ बैठक कर जन जागरूकता कार्यक्रम भी कर रहा है. क्षेत्र में कॉम्बिंग कर तेंदुआ की लोकेशन की जानकारी प्राप्त करने की कोशिश की जा रही है. वन विभाग पूरी योजना के साथ ऑपरेशन को अंजाम देने की जुगत में जुटा है.

Tags: Leopard Cubs Birth, Meerut news, UP news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर