• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • मेरठ का जवान जम्मू-कश्मीर में शहीद, आतंकियों से मुठभेड़ में हो गए थे घायल

मेरठ का जवान जम्मू-कश्मीर में शहीद, आतंकियों से मुठभेड़ में हो गए थे घायल

30 बरस के मेजर मयंक अपनी बहन से कहते थे कि मेरा सपना है तिरंगे में लिपट कर आना.

30 बरस के मेजर मयंक अपनी बहन से कहते थे कि मेरा सपना है तिरंगे में लिपट कर आना.

मेजर का पार्थिव शरीर रविवार को पहले दिल्ली लाया जाएगा. उसके बाद दिल्ली से मेरठ के कंकर खेड़ा स्थित पैतृक आवास पर उनका पार्थिव शरीर लाया जाएगा. फिर मेरठ में ही शहीद मेजर मयंक विश्नोई को अंतिम विदाई दी जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ का जवान जम्मू कश्मीर के शोपिया में शहीद हो गया. मेरठ के कंकर खेड़ा के रहनेवाले मयंक विश्नोई जम्मू कश्मीर के शोपिया में तैनात थे. उनका पार्थिव शरीर रविवार सुबह उनके आवास पर पहुंचेगा. जिसके बाद रविवार को सैन्य सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. बताया गया कि 27 अगस्त को आतंकियों से मुठभेड़ में वे बुरी तरह घायल हो गए थे, उनका इलाज उधमपुर में चल रहा था.

बताया गया कि मेजर मयंक विश्नोई घाटी में आतंकियों से लोहा लेते हुए गंभीर रूप से घायल हो गए थे, जिसके बाद उन्हें उधमपुर के सैनिक अस्पताल में भर्ती कराया गया था. आज सुबह सैनिक अस्पताल में वे वीरगति को प्राप्त हुए. मेजर मयंक विश्नोई कंकर खेड़ा शिवलोकपुरी के रहनेवाले रिटायर्ड सूबेदार वीरेंद्र बिश्नोई के पुत्र थे.

इन्हें भी पढ़ें :
बहराइच में डबल मर्डर से मचा हड़कंप, दो बच्चों की गला रेतकर हत्या, शिनाख्त में जुटी पुलिस
जानिए कब से है माफिया मुख्तार अंसारी और BSP का रिश्ता, ऐसे बहनजी के आर्शीवाद से शुरू हुआ था सफर

मेजर मयंक विश्नोई के पिता वीरेंद्र विश्नोई और माता मधु विश्नोई उधमपुर के लिए रवाना हो गए हैं. पत्नी स्वाति विश्नोई उधमपुर में ही हैं. कल मेजर का पार्थिव शरीर पहले दिल्ली लाया जाएगा. उसके बाद दिल्ली से मेरठ के कंकर खेड़ा स्थित पैतृक आवास पर उनका पार्थिव शरीर लाया जाएगा. फिर मेरठ में ही शहीद मेजर मयंक विश्नोई को अंतिम विदाई दी जाएगी. मेजर विश्नोई की बहन के मुताबिक, उनके भाई अक्सर कहा करते थे कि वह तिरंगे में लिपट कर आएं, यही उनका सपना है. मात्र 30 साल के मेजर बिश्नोई देश के लिए अपने प्राण न्योछावर कर चुके हैं और तिरंगे से लिपट कर ही अब उनका शरीर आ रहा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज