Home /News /uttar-pradesh /

मेरठः-मिस्ड कॉल बन रही संस्कृत सीखने का बेहतर माध्यम

मेरठः-मिस्ड कॉल बन रही संस्कृत सीखने का बेहतर माध्यम

संस्कृत

संस्कृत विषय पर आयोजित कार्यक्रम

संस्कृत को प्रत्येक युवा तक पहुंचाने के लिए जहां संस्कृत भारती द्वारा विभिन्न प्रयास किए जा रहे हैं. वहीं उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान द्वारा भी मिस्ड कॉल को माध्यम बनाया गया है. ताकि जो संस्कृत प्रेमी संस्कृत का अध्ययन करना चाहते हो उन लोगों को निशुल्क संस्कृत सिखाई जा सके.

अधिक पढ़ें ...

    मेरठ:-संस्कृत को प्रत्येक युवा तक पहुंचाने के लिए जहां संस्कृत भारती द्वारा विभिन्न प्रयास किए जा रहे हैं. वहीं उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान द्वारा भी मिस्ड कॉल को माध्यम बनाया गया है. ताकि जो संस्कृत प्रेमी संस्कृत का अध्ययन करना चाहते हो उन लोगों को निशुल्क संस्कृत सिखाई जा सके.यह बात उत्तर प्रदेश संस्कृत भाषा संस्थान के अध्यक्ष डॉ वाचस्पति मिश्र ने न्यूज़ 18 लोकल मेरठ की टीम से खास बातचीत करते हुए कही. उन्होंने कहा कि संस्कृत को खोई पहचान वापस दिलाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार को भी विभिन्न प्रस्ताव दिए हैं. जिन पर सरकार द्वारा विचार विमर्श किया जा रहा है.

    80000 से ज्यादा लोगों की आई मिस्ड कॉल 14000 लोगों को सिखाई संस्कृत
    डाॅ वाचस्पति मिश्र ने बताया कि संस्कृत सीखने के लिए लगभग 80000 मिस्ड कॉल आ चुकी है.जिसमें से 14000 लोगों को निशुल्क संस्कृत सिखाई गई है.उन्होंने बताया कि 20 दिन के अंदर संस्कृत का अध्ययन इस प्रकार कराया जाता है. कि जो भी लोग संस्कृत का अध्ययन करते हैं. उनकी बोलचाल भाषा संस्कृत बन जाती है.समय सारणी भी संस्कृत प्रेमी के अनुसार जो लोग भी संस्कृत सीखना चाहते हैं .उन सभी को ऑनलाइन माध्यम से निशुल्क संस्कृत सिखाई जाती है. इतना ही नहीं संस्कृत सिखाने के लिए संबंधित व्यक्ति द्वारा ही समय सारणी निर्धारित की जाती है उसी द्वारा संस्कृत भाषा संस्थान द्वारा उस व्यक्ति को संस्कृत की कक्षाएं दी जाती है.जिससे वह संस्कृत के प्रचार प्रसार को आगे बढ़ा सके.गौरतलब है कि डा वाचस्पति मिश्र के द्वारा संस्कृत की कार्यों बेहतर तरीके से करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उनके कार्यकाल का भी विस्तार कर दिया है.

    रिपोर्ट विशाल भटनागर मेरठ

    Tags: मेरठ

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर