Home /News /uttar-pradesh /

many houses hundreds of bighas of land know list of properties of smuggler akbar banjara nodss

कई मकान, सैकड़ाें बीघा जमीन, राजा महाराजाओं जैसा ठाठ, कुछ ऐसी है तस्कर अकबर बंजारा की संपत्तियों की फेहरिस्त

अकबर बंजारा के संपर्क आइएसआई से भी बताए जा रहे हैं.

अकबर बंजारा के संपर्क आइएसआई से भी बताए जा रहे हैं.

पशु तस्कर अकबर बंजारा की संपत्तियों को पुलिस खंगालने पर उतरी तो सभी चौंक गए. एक के बाद एक मकान और जमीनों के बारे में खुलासा होता गया. बताया जा रहा है कि तस्कर की संपत्ति 1000 करोड़ रुपये से भी अधिक की हो सकती है.

मेरठ. भारत में रहकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पशु तस्करी का काला कारोबार करने वाले अकबर बंजारा की संपत्तियों को जब पुलिस ने खंगालना शुरू किया तो सभी के होश उड़ गए. अकबर बंजारा की काली सल्तनत करीब 1000 करोड़ की आंकी जा रही है. बंजारा की ज्यादातर संपत्तियां बेनामी है. कुछ करीबियों और ज्यादातर रिश्तेदारों के नाम पर हैं. जिसके चलते मेरठ पुलिस को संपत्ति खंगालने में अब अन्य विभागों की भी मदद लेनी पड़ेगी. पुलिस ने अकबर बंजारे की संपत्तियों की फेहरिस्त तैयार की है. जिसमें अब तक करोड़ों की संपत्ति को शामिल किया जा चुका है. लेकिन अभी इन संपत्तियों का वेरिफिकेशन होना बाकी है.

आईएसआई से भी जुड़े तार
पशु तस्करी का किंग बन चुका अकबर बंजारा मूल रूप से मेरठ के फलावदा का रहने वाला था। पशु खरीदकर कसाईयों को सप्लाई करने का कारोबार तो उसका पुश्तैनी था लेकिन इस कारोबार को तस्करी तक पहुंचाने में अकबर बंजारा की बड़ी भूमिका है. पिछले दो दशकों में अकबर बंजारा ने यूपी, बिहार, बंगाल, मध्य प्रदेश, राजस्थान ,असम मेघालय में अपने नेटवर्क को तैयार किया. देश भर से प्रतिबंधित पशुओं की तस्करी करके मेघालय के रास्ते बांग्लादेश भेजा करता था और इन पशुओं के बदले हवाला हुंडी और सोने में भारी रकम बंजारा गैंग को मिलती थी. असम पुलिस के अनुसार पशु तस्करी के इस काले कारोबार को पाकिस्तान की आईएसआई भी संरक्षण देती थी. ताकि इस कमाई का कुछ हिस्सा भारत में एंटी नेशनल मूवमेंटस में लगाया जा सके.

इतनी है संपत्ति
फलावदा में अकबर बंजारा के पास तीन मकान
15 दुकानें और तीन मकान लिसाड़ी गेट क्षेत्र में
शास्त्री नगर सैक्टर 9 में बंजारा की आलीशान कोठी
बहसूमा इलाके में 155 बिघा का बाग
नौ बीघा फलावदा में खेती की जमीन
20 बीघा जमीन महलका गांव में
18 बीघा जमीन नारनौल में खेती के लिए खरीदी

पुश्तैनी है कारोबार
अकबर बंजारा के परिजनों से जब हमारे संवाददाता निखिल अग्रवाल ने बातचीत की तो उन्होंने कहा कि पशुओं का काम पुश्तैनी है. उनके बाप दादा इसी धंधे में रहे हैं लेकिन अकबर बंजारा ने इस गंदे धंधे को आसमान की ऊंचाइयों तक पहुंचा दिया.
वही अकबर बंजारा के आईएसआई कनेक्शन को खंगालने के लिए एलआईयू और इंटेलिजेंस की टीम ने फलावदा में डेरा डाल दिया है. एलआईयू के लोग अकबर के संपत्ति के फेहरिस्त तैयार कर रहे हैं. लेकिन परिवार के लोग संपत्तियां छुपाने में लगे हुए हैं.

Tags: Meerut news, Smuggling

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर