लाइव टीवी

मेरठ: 8 करोड़ की लूट में वांछित चल रहे डॉन शिवशक्ति नायडू गैंग का गुर्गा गिरफ्तार
Meerut News in Hindi

Umesh Srivastava | News18 Uttar Pradesh
Updated: February 3, 2020, 3:36 PM IST
मेरठ: 8 करोड़ की लूट में वांछित चल रहे डॉन शिवशक्ति नायडू गैंग का गुर्गा गिरफ्तार
पुलिस के हत्थे चढ़ा डॉन शिवशक्ति नायडू गैंग का गुर्गा

दक्षिण भारत का रहने वाला शिवशक्ति नायडू चौदह साल की उम्र में दिल्ली आया और ठक-ठक गैंग चलाने लगा. चौथ वसूली से लेकर रंगदारी और विरोध करने पर गोलियां चलाना नायडू के लिए आम हो गया.

  • Share this:
मेरठ.  यूपी, एमपी, राजस्थान और पंजाब पुलिस (Police) के लिए दक्षिण भारत से 26 साल पहले आया एक डॉन चुनौती बना हुआ है. इस डॉन का नाम है शिवशक्ति नायडू (Shiv Shakti Naidu). नायूड को फिलहाल दिल्ली पुलिस समेत तमाम राज्यों की पुलिस खोज रही हैं. इस बीच मेरठ (Meerut) पुलिस उस वक्त बड़ी कामयाबी हाथ लगी जब इस गैंग के वांछित गुर्गे और दिल्ली में आठ करोड़ की लूट का आरोपी तिलकराज पुलिस के हत्थे चढ़ा. तिलकराज पर एक लाख का इनाम घोषित था.

ठक-ठक गैंग से जरायम की दुनिया में रखा कदम

दक्षिण भारत का रहने वाला शिवशक्ति नायडू चौदह साल की उम्र में दिल्ली आया और ठक-ठक गैंग चलाने लगा. चौथ वसूली से लेकर रंगदारी और विरोध करने पर गोलियां चलाना नायडू के लिए आम हो गया. शिवशक्ति नायडू तकरीबन छब्बीस साल से ज़रायम की दुनिया में सक्रिय है. नाय़डू ने दिल्ली में आठ करोड़ की डकैती, जयपुर में पांच करोड़, लुधियाना में छह करोड़ की रकम लूटी. पुलिस सूत्रों की मानें तो इस गिरोह ने हिमाचल प्रदेश, जम्मू, लुधियाना और प्रयागराज समेत बिहार मध्यप्रदेश में भी ठिकाने बनाए हैं.

तिलकराज को पुलिस ने भेजा जेल

इस डॉन का नाम उस वक्त सुर्खियों में आया जब दिल्ली में आठ करोड़ की लूट में वांछित चल रहा एक लाख का इनामी गिरफ्तार हुआ. एक लाख के इनामी तिलकराज को दौराला पुलिस ने जेल भेज दिया है. गैंग के सरगना शिवशक्ति नायडू की तलाश में पुलिस दबिश दे रही है. दिल्ली से मकोका में वांछित सरगना शिवशक्ति नायडू के साथी एक लाख रुपए के इनामी तिलकराज को मेरठ की दौराला पुलिस ने जेल भेज दिया है. तिलकराज दिल्ली में आठ करोड़ की लूट में वांछित था. तिलकराज के पकड़े जाने पर इस दक्षिण भारतीय डॉन का खुलासा हुआ.

गैंगवार के दौरान हुई गिरफ़्तारी

गौरतलब है कि मेरठ के कंकरखेड़ा थानाक्षेत्र में खिर्वा रोड पर 30 जनवरी की रात गैंगवार हुई थी. करोड़ों की लूट के बंटवारे और प्रॉपर्टी के विवाद में ये गैंगवार हुई थी. पुलिस ने दो आरोपियों तिलकराज और रितुराज को गिरफ्तार दिखाकर इसका खुलासा किया है. मेरठ पुलिस का दावा है कि तिलक राज पर दिल्ली पुलिस ने एक लाख का इनाम रखा था.गैंगवार में हनी लोहिया की हुई थी गिरफ्तारी

इस गैंगवार में दिल्ली निवासी हनी लोहिया की गोलियां बरसाकर हत्या कर दी गई थी. गोलीबारी में हनी का चाचा रतिराम भी घायल हुआ था. एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि तिलक राज के साथ 25 हजार के इनामी रितुराज चौधरी को भी गिरफ्तार किया गया है. इनके पास से एक पिस्टल, एक तमंचा व कारतूस बरामद हुए हैं. तिलकराज हवाला कारोबार से जुड़ा हुआ था. तिलक राज के खिलाफ यूपी, पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड में संगीन मामले दर्ज हैं.

दिल्ली समेत कई राज्यों में लूट की वारदातों को दे चुका है अंजाम

एसएसपी ने बताया कि यह गैंग दिल्ली पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ था. दिल्ली समेत कई राज्यों में लूट की घटनाएं कर चुका था. दो महीने पहले दिल्ली में हुई लूट का करोड़ों रुपया तिलक राज और हनी ने अपने पास रख लिया था. जिसको लेकर इनका विवाद शक्ति नायडू से हुआ था. करोड़ों रुपये की यह लूट इन तीनों बदमाशों ने की थी, जिसमें हनी की हत्या कर दी गई, जब तिलकराज घायल हो गया था. शक्ति नायडू पर भी एक लाख रुपये का इनाम दिल्ली पुलिस ने घोषित किया है.

एक लाख का था इनाम

दिल्ली के एसीपी ललित मोहन नेगी और यूपी पुलिस के इंस्पेक्टर विपिन कुमार की हत्या की साजिश रचने वाले कुख्यात शक्ति नायडू पर दिल्ली पुलिस ने एक लाख और मेरठ पुलिस ने नायडू के साथी रवि उर्फ रविंद्र भूरा पर 25 हजार रुपये का घोषित किया है. दिल्ली पुलिस की टीम ने भी मेरठ पहुंचकर तिलकराज और रितुराज से पूछताछ की है. दिल्ली पुलिस तिलकराज को रिमांड पर लेगी. पुलिस के अनुसार शक्ति नायडू ठक-ठक गैंग से जुड़ा था. उसने लूट और डकैती के लिए अपना गैंग बनाकर करोड़ों रुपये की प्रॉपर्टी खड़ी की.

ये भी पढ़ें:

प्रयागराज: CAA-NRC के विरोध में महिलाओं का प्रदर्शन 23वें दिन भी जारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मेरठ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 3, 2020, 3:36 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर