मेरठ: चलती बस में गैंगरेप का मामला निकला फर्जी, पुलिस बोली- महिला ने आपसी सहमति से बनाए थे संबंध

मेरठ पुलिस ने गैगरेप को बताया फर्जी
मेरठ पुलिस ने गैगरेप को बताया फर्जी

पुलिस का कहना है कि बर्खास्त फौजी के साथ महिला के पहले से ही अवैध संबंध थे. पुलिस ने कहा कि मेरठ की देवलोक कॉलोनी में शराब पीने के बाद महिला से दो लोगों ने अवैध संबंध बनाए थे. इसके बाद महिला को सुनसान रास्ते पर छोड़कर फौजी और उसका साथी फरार हो गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 27, 2020, 8:09 AM IST
  • Share this:
मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut) जनपद में शनिवार को महिला के साथ एक चलती बस में सामूहिक दुष्कर्म (Gangrape) के मामले में नया मोड़ सामने आया है. पुलिस (Police) की जांच में गैंगरेप की बात फर्जी निकली है. पुलिस के मुताबिक महिला ने आपसी सहमति से शारीरिक संबंध बनाए थे. पुलिस का कहना है कि बर्खास्त फौजी के साथ महिला के पहले से ही अवैध संबंध थे. पुलिस ने कहा कि मेरठ की देवलोक कॉलोनी में शराब पीने के बाद महिला से दो लोगों ने अवैध संबंध बनाए थे. इसके बाद महिला को सुनसान रास्ते पर छोड़कर फौजी और उसका साथी फरार हो गए. इसके बाद महिला ने गैंगरेप की फर्जी स्टोरी गढ़ी. फिलहाल पुलिस ने आरोपी फौजी को गिरफ्तार कर लिया है.

दरअसल, एक महिला मेरठ भैंसाली बस स्टैंड से प्रयागराज जाने के लिए बस में सवार हुई थी. महिला का आरोप है कि बस में ही ड्राइवर और कंडक्टर ने सामूहिक दुष्कर्म किया. इसके बाद महिला को दिल्ली रोड स्थित मेवला पुल के पास फेंककर फरार हो गए पीड़ित महिला ने आरोप लगाया है कि कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ पिलाकर रातभर चलती बस में ड्राइवर और कंडक्टर ने दुष्कर्म किया. इसके बाद बस से फेंककर फरार हो गए. पीड़िता को बदहवास हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

मामला सामने आने के बाद पुलिस एक्शन में आई और जांच में जुट गई. मेरठ के एसपी क्राइम राम अर्ज ने बताया कि महिला सरधना क्षेत्र की रहने वाली है. उन्होंने कहा कि पुलिस जांच में गैंगरेप की  बात फर्जी निकली है. महिला ने अपनी सहमति से दो लोगों से संबंध बनाए थे. गिरफ्तार फौजी का महिला से पहले से ही संबंध था. वारदात की रात सभी ने शराब पी थी,. लेकिन जब वे उसे छोड़कर फरार हो गए तो महिला ने गैंगरेप की कहानी गढ़ी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज