मेरठ का हाईटेक क्लिनिक, न आला न पर्ची शीशे की कोठरी में इलाज

मेरठ में डॉक्टर वीरोत्तम तोमर की क्लिनिक की चर्चा हर तरफ हो रही है.
मेरठ में डॉक्टर वीरोत्तम तोमर की क्लिनिक की चर्चा हर तरफ हो रही है.

मेरठ के इस क्लिनिक में मरीज (Patients) की दिल की धड़कन चेक करने का भी अनोखा तरीका है. जो हर किसी को आश्चर्य में डाल दे रहा है.

  • Share this:
मेरठ. आमतौर पर अस्पतालों में डॉक्टर (Doctor) मरीजों को आला लगाकर नब्ज टटोल कर हेल्थ चेक करते हैं. लेकिन मेरठ के एक क्लिनिक में डॉक्टर शीशे की दीवार के पार से माइक के जरिए मरीजों से बात करते हैं. मरीज (Patients) की दिल की धड़कन चेक करने के लिए भी डॉक्टर इसी तरीके को अपनाते हैं. जो हर किसी को आश्चर्य में डाल दे रहा है.

दरअसल हार्ट स्पेशलिस्ट डॉक्टर वीरोत्तम तोमर एक डिवाइस को ब्लुटूथ के ज़रिए कनेक्ट करते हैं. फिर मरीज उस डिवाइस को अपने दिल के करीब ले जाते हैं. इस दौरान शीशे के दूसरी तरफ बैठे डॉक्टर कान में ईयर फोन लगाकर मरीज की दिल की धड़कन सुनकर हेल्थ चेकअप कर लेते हैं.

डॉक्टर तोमर का कहना है कि इस विधि से मरीज भी खुद को सुरक्षित महसूस करता है. और वो और उनका स्टाफ भी सुरक्षित रहते हैं. मरीज माइक पर ही उन्हें अपनी समस्या बताते हैं. और वो मरीजों को माइक से ही इलाज बताते हैं.



बतौर डॉक्टर कोरोना से बचने का ये एक सुरक्षित उपाय है. इसलिए वो अपने क्लिनिक में इस तरह की सावधानी बरत रहे हैं. मरीजों के क्लिनिक में घुसने से लेकर देखने तक में उन्हें कई बार सेनेटाइज किया जाता है. सारे स्टाफ पीपीई किट और मास्क पहन कर रहते हैं. हर मरीज और स्टाफ का रोजाना टेंपरेचर चेक होता है.
दिल के डॉक्टर का ये क्लिनिक आजकल मेरठ में चर्चा का विषय बना हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज