• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • सूरजकुंड स्थित मनसा देवी के दर्शन मात्र से ही हो जाता है हर दोष का निवारण

सूरजकुंड स्थित मनसा देवी के दर्शन मात्र से ही हो जाता है हर दोष का निवारण

मनसा

मनसा देवी पिंडी रूप में है स्थापित

मेरठ में मंदिरों को लेकर काफी मान्यता है. कुछ मंदिरों का इतिहास रावण की पत्नी मंदोदरी से जुड़ा हुआ है. कहते हैं कि रावण की ससुराल मेरठ थी.

  • Share this:

    मेरठ:- पश्चिम उत्तर प्रदेश के मेरठ की पहचान जहां क्रांति धरा से हैं. वहीं मेरठ को रावण की ससुराल भी कहा जाता है. पौराणिक कथाओं के अनुसार पहले मेरठ को मयाराष्ट्र के नाम से जाना जाता था. जोकि मयदानव का राजपाठ हुआ करता था. इसी वजह से मेरठ में मंदोदरी को लेकर अनेकों कथाएं देखने को मिलेगी. कुछ इसी तरह के एक इतिहास के बारे में आज हमको बताएंगे. जिसमें मंदोदरी द्वारा मां मनसा देवी के मंदिर स्थापना की गई थी.
    दोष निवारण के लिए मंदोदरी ने की थी मनसा देवी की पिंडी की स्थापना
    पौराणिक कथाओं के अनुसार मंदोदरी के नक्षत्र में कोई दोष था. ऐसे में अनेकों निवारण करने के बाद ही वह दोष दूर नहीं हुआ. तब एक ऋषि ने मंदोदरी को मनसा देवी की पिंडी को स्थापन करने के साथ दोष निवारण अनुष्ठान करने का सुझाव दिया था. ऋषि मुनि की मानते हुए मंदोदरी ने सूरजकुंड स्थित जंगलों में मनसा देवी की पिंडी की स्थापना की थी. कहते हैं कि उनके दोष का समाधान हो गया था. तबसे लेकर अब तक मान्यता है जो भी भक्त मनसा देवी की सच्चे मन से आराधना करते हैं. उन सभी के दोष दूर होते हैं.
    मंदिर का आकार है विशेषता
     मनसा देवी मंदिर बहुत ही छोटा बना हुआ है. इस मंदिर में प्रवेश करने के लिए भी भक्तों को बैठकर जाना पड़ता है. वही एक बार में सिर्फ एक ही भक्त मनसा देवी के दर्शन कर सकता है. मंदिर की खासियत है कि मंदिर में जहां मनसा देवी की मूर्ति बनी हुई है. वहीं मंदिर में मंदोदरी द्वारा स्थापित की गई पिंडी भी मौजूद है.गौरतलब है कि मेरठ में मंदोदरी द्वारा कई स्थानों पर पूजा अर्चना की गई थी. जिसमें सदर स्थित बिलेश्वर नाथ मंदिर, नौचंदी ग्राउंड स्थित नवचंडी मंदिर का भी उल्लेख है. इसी क्रम में मान्यता है कि सूरजकुंड स्थित सती मंदिर के पास मनसा देवी मंदिर की भी स्थापना मंदोदरी द्वारा की गई थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज