Meerut News: कोरोना से मरने वालों में 42 फ़ीसदी चेन स्मोकर्स, डॉक्टर्स ने दी जल्द वैक्सीन लगवाने की सलाह

कोरोना से मरने वालों में अधिकतर तंबाकू  करने वाले

कोरोना से मरने वालों में अधिकतर तंबाकू करने वाले

Meerut News: मेरठ में करीब 767 लोगों की जान अब तक कोरोना संक्रमण के कारण जा चुकी है, इनमें करीब 320 लोग ऐसे थे जो तंबाकू का सेवन करते थे. डॉक्‍टरों ने तंबाकू या धूम्रपान का सेवन करने वालों को तत्‍काल वैक्‍सीन लगाने की सलाह दी है.

  • Share this:

मेरठ. कोरोना संक्रमण (Corona Infection) का शिकार होकर मरने वालों में बहुत बड़ी संख्या उन लोगों की है जो तंबाकू का सेवन करते थे. मेरठ (Meerut) में करीब 42 फ़ीसदी कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत के पीछे तंबाकू का सेवन करना भी एक बड़ी वजह थी.

मेरठ में करीब 767 लोगों की जान अब तक कोरोना संक्रमण के कारण जा चुकी है, लेकिन इसमें करीब 320 लोग ऐसे थे जो तंबाकू का सेवन करते थे. इसमें वे सब लोग शामिल हैं जो या तो सिगरेट के जरिए तंबाकू लेते थे या फिर अन्‍य तरह से तंबाकू सेवन की लत के शिकार थे. डॉक्टरों की मानें तो धूम्रपान का सीधा असर फेफड़ों पर पड़ता है. धूम्रपान के सेवन से शरीर के अंदर प्रोटेक्टिव लेयर को भारी नुकसान पहुंचता है. जिसके जरिए वायरस के शिकार बनते हैं. कोरोनावायरस भी कुछ इसी तरीके से तंबाकू का इस्तेमाल करने वाले लोगों को अपना शिकार बनाता है. जिससे उनमें संक्रमण और गंभीर बीमारी का खतरा बढ़ जाता है.

तीसरी लहर में तंबाकू के लती ज्यादा हो सकते हैं शिकार

डॉक्टरों की मानें तो कोरोना संक्रमण का शिकार होकर गंभीर रूप से जो मरीज आए उनमें देखा गया है कि अधिकतर वे लोग या तो चेन स्मोकर थे या फिर तंबाकू का सेवन करते थे. धूम्रपान का सेवन करने वाले लोगों को डॉक्टरों ने सलाह भी दी है कि जल्द से जल्द वैक्सीन लगवाएं, ताकि अगर कोरोना संक्रमण हुआ भी तो नतीजे गंभीर न हों. उन्होंने हिदायत भी दी कि तीसरी लहर में धूम्रपान या तंबाकू का सेवन करने वाले लोग कोरोना संक्रमण का जल्द शिकार हो सकते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज