मेरठ: ब्लैक फंगस से 4 और लोगों की मौत, मरने वालों का कुल आंकड़ा पहुंचा 12

मेरठ में ब्लैक फंगस से चार और मौत

Black Fungus Deaths in Meerut: मेरठ में अब तक ब्लैक फंगस से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 100 के पार पहुंच चुका है. जिसको देखते हुए मेडिकल कॉलेज में में कोविड और नॉन कोविड ब्लैक फंगस वार्ड बनाया गया हैं. इसके साथ ही ब्लैक फंगस को लेकर सर्विलांस तेज कर दी गई है.

  • Share this:
मेरठ. कोरोना महामारी (Covid Pandemic) के बीच ब्लैक फंगस (Black Fungus) का तांडव भी अब देखने को मिल रहा है. मेरठ (Meerut) जिले में पिछले 24 घंटे में चार और मरीजों की मौत ब्लैक फंगस की वजह से हो गई. इसी के साथ जिले में ब्लैक फंगस से मरने वालों का आंकड़ा 12  हो गया है. पिछले 24 घंटों में मेडिकल कॉलेज में तीन और निजी अपसटल में एक मरीज की मौत बालक फंगस की चपेट में आने से हुई.

बता दें कि मेरठ में अब तक ब्लैक फंगस से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 100 के पार पहुंच चुका है. जिसको देखते हुए मेडिकल कॉलेज में में कोविड और नॉन कोविड ब्लैक फंगस वार्ड बनाया गया हैं. इसके साथ ही ब्लैक फंगस को लेकर सर्विलांस तेज कर दी गई है.

कई मरीजों के ऑपरेशन की तैयारी
मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ ज्ञानेंद्र का कहना है कि कोविड-19 का अलग वार्ड बना दिया गया है. कई मरीजों का ऑपरेशन करने की तैयारी है. वहीं सीएमओ डॉक्टर अखिलेश ने कहा कि ब्लैक फंगस महामारी घोषित की गई है, इसका सर्विलांस तेज़ कर दिया गया है. वहीं कई रोगियों ने भी ब्लैक फंगस को मात दी है. जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ अशोक तालियान के मुताबिक अब तक 29 मरीज ठीक हो चुके हैं. जिन्हें डिस्चार्ज किया जा चुका है. निजी अस्पताल में तेरह मरीज़ों का सफल ऑपरेशन हुआ है.
मेरठ में ब्लैक फंगस के कई रोगियों का सफल ऑपरेशन हुआ है.

कई मरीजों ने ब्लैक फंगस को हराया
सीएमओ डॉक्टर अखिलेश मोहन का कहना है कि ब्लैक फंगस को यहां कई मरीज़ों ने हरा दिया है. और ठीक हो चुके कई रोगियों को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है. सीएमओ ने बताया कि अलग अलग अस्पतालों में कुछ मरीज़ों का सफल ऑपरेशन हुआ है. सीएमओ ने कहा कि मेरठ में अलग अलग जनपदों के भी मरीज़ भर्ती हैं. उनके मुताबिक आधे से ज्यादा ब्लैक फंगस के मरीज़ पड़ोसी ज़िलों के हैं. वहीं व्हाईट फंगस को लेकर उन्होंने कहा कि ये कोई अलग फंगस नहीं है. क्योंकि ये ब्लड वेसल्स को रोक देता है तो उसका कलर ब्लैक हो जाता है. उन्होंने कहा कि नाम इसका भले ही ब्लैक फंगस हो. लेकिन इसका रंग सफेद होता है. सीएमओ ने कहा कि मेडिकल कॉलेज में दवाएं उपलब्ध हैं. और डॉक्टरों को भी इसे लेकर सचेत कर दिया गया है. डॉक्टर जल्दी डिटेक्ट करने की कोशिश कर रहे हैं.

कोरोना के मामलों में गिरावट
बीते चौबीस घंटे की बात की जाए तो यहां कोरोना के नए केसेज में भारी कमी दर्ज की गई है. यहां बीते चौबीस घंटे के दौरान कोरोना के 394 नए केस मिले हैं. जबकि कुल एक्टिव केसेज़ की संख्या भी घट गई है. मेरठ में कुल एक्टिव केसेज़ की संख्या 6090 हो गई है. होम आईसोलेटेड मरीज़ों की संख्या भी घटी है. अब 3275 होम आईसोलेटेड लोगों का इलाज किया जा रहा हैं. हालांकि कोरोना से बीते चौबीस घंटे के दौरान 9 और मौत हुई है. लगातार मेरठ में कोरोना को मात देने वालों की संख्या बढ़ी है. यहां अब तक 787 लोगों ने कोरोना को मात दी है.